Shocking: सजा शादी का मंडप, दुल्हन बनीं मां-बेटी और फिर लिये सात फेरे…

यूपी के गोरखपुर में शादी के मंडप पर एक अनोखा नज़ारा देख भावुक लोगों की आंख नाम हो गयी। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत एक ही मंडप में बेटी और उसकी मां को भी सात फेरे लेते देख  सब भावुक हो गए।

Shocking : यूपी के गोरखपुर में शादी के मंडप पर एक अनोखा नज़ारा देख भावुक लोगों की आंख नाम हो गयी। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत एक ही मंडप में बेटी और उसकी मां को भी सात फेरे लेते देख सब भावुक हो गए। ये नज़ारा देख सभी ने ख़ुशी से दोनों को आने वाले जीवन की मंगल कामनाएं की और आशीर्वाद दिया। 

दरअसल, गोरखपुर के पिपरौली ब्लॉक क्षेत्र के कुरमौल निवासी बेइली के पति की नहीं है उनकी मौत हो चुकी थी। उनकी मौत के बाद से वो अकेले ही जीवन बिता रही थी और सारी जिम्मेदारियां निभा रही थी। उसने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में बेइली ने अपनी और पुत्री इंदू की शादी का रजिस्ट्रेशन करवाया था।

खूब चर्चा हो रही है और खूब सुर्खियाँ बटोर रहा है

Shocking बेइली की उसके देवर जगदीश (55) और बेटी इंदू की शादी पाली निवासी राहुल के साथ हुई। इस आयोजन में दोनों ने सात फेरे लिए और दांपत्य जीवन की शुरुआत की। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि एक ही मंडप में मां-बेटी दोनों का विवाह पहली बार देखने को मिला है। इसकी चारो तरफ खूब चर्चा हो रही है और खूब सुर्खियाँ बटोर रहा है।

ये भी पढ़ें – अनोखी शादी: बिजनौर में इस दूल्हा-दुल्हन को देखने के लिए लगी गांववालों की भीड़, देख आप भी रह जायेंगे हैरान

बता दें कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत गुरुवार को पिपरौली ब्लॉक मुख्यालय पर 63 जोड़ों ने दांपत्य जीवन में कदम रखा। इनमें से एक जोड़े का निकाह कराया गया। मुख्य अतिथि जिला पंचायत सदस्य छोटे लाल मौर्य व अन्य लोगों ने वर-वधु को आशीर्वाद दिया। इस दौरान भारी संख्या में दोनों पक्षों के लोग मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें – पहले पति और परिवार को दिया चाय में बेहोशी की दवा और प्रेमी को बुलाकर किया ये काम…..

मुख्य अतिथि ने कहा कि प्रदेश सरकार की यह अति महत्वाकांक्षी योजना इस महंगाई के दौर में गरीबों के लिए वरदान साबित हो रही है। विशिष्ट अतिथि भाजपा नेता दिलीप कुमार यादव ने कहा कि इस प्रकार की रस्म अदायगी से समाज में समानता की भावना जागृत होगी और इससे एकता को बल मिलेगा।

ये भी पढ़ें – उन्नाव: पूजा कर लौट रहे दूल्हा-दुल्हन के साथ हुआ कुछ ऐसा कि लोग मान बैठे ‘देवी मां का प्रकोप’

एक मुस्लिम जोड़े का निकाह कराया

मुख्य अतिथि ने कहा कि खर्चीले विवाह के बजाय लोग सामूहिक विवाह के प्रति जागरूक होंगे। शादी आचार्य महेश्वर शुक्ल एवं मुकेश मणि त्रिपाठी ने कराई। जबकि इमाम इरफान अहमद ने एक मुस्लिम जोड़े का निकाह कराया। बीडीओ डॉ. सीएस कुशवाहा ने सभी का आभार जताया।

सीएचसी प्रभारी डॉ. एनके राय, अपर जिला कृषि अधिकारी रमेश द्विवेदी, एडीओ कोआपरेटिव सुनील पांडेय, कृषि रक्षा अधिकारी देवव्रत सिंह, प्रमुख प्रतिनिधि सतपाल सिंह, एडीओ आईएसबी रतन सिंह, समरपाल सिंह, गुजेश्वर सिंह सहित ग्राम विकास एवं ग्रामपंचायत अधिकारी, सफाई कर्मचारी उपस्थित रहें।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button