योगी का सख्त निर्देश, कोरोना के मद्देनजर न हो कोई भी सार्वजनिक आयोजन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आगामी समय में सम्पन्न होने वाले पर्वों के दृष्टिगत पूरी सतर्कता और सावधानी बरती जाए। कोविड-19 को देखते हुए पर्वों के दौरान सार्वजनिक आयोजन न किया जाए। त्यौहारों को मनाने में सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से किया जाए। उन्होंने दैवीय आपदा के प्रभावितों को राज्य सरकार द्वारा अनुमन्य राहत राशि का समय से वितरण सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में एक दिन में कोविड-19 के 01 लाख 55 हजार से अधिक टेस्ट की क्षमता अर्जित किए जाने पर संतोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित करने में मेडिकल टेस्टिंग की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है। इसके दृष्टिगत टेस्टिंग कार्य पूरी तेजी से संचालित किया जाए। मुख्यमंत्री आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समय पर कोविड-19 के रोगी को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाने से उसका उपचार एल-1 श्रेणी के कोविड चिकित्सालय में ही किया जा सकता है। इसलिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की कार्यवाही पर विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है।

उद्यमियों एवं निवेशकों की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश
मुख्यमंत्री ने कोविड-19 से बचाव तथा यातायात सुरक्षा के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किए जाने पर बल दिया। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 तथा यातायात सुरक्षा के बारे में जनता को जागरूक करने के लिए सभी जनपदों के जिलाधिकारियों तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों,पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने जी0एस0टी0 के अन्तर्गत अधिक से अधिक पंजीयन के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जी0एस0टी0 के माध्यम से संग्रहीत होने वाले राजस्व में वृद्धि के लिए प्रभावी प्रयास किए जाएं। यह सुनिश्चित किया जाए कि जी0एस0टी0 की चोरी न होने पाए। उन्होंने उद्योग बन्धु की बैठक आहूत करने तथा उद्यमियों एवं निवेशकों की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश भी दिए है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button