यूपी पंचायत चुनाव : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में दावेदारी पेश करने के लिए घूंघट से बाहर निकलीं महिलाएं

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में दावेदारी पेश करने के लिए घूंघट से बाहर निकलीं महिलाएं

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में दावेदारी पेश करने के लिए महिलाएं घूंघट से बाहर निकलकर चुनावी रण में उतरी हैं वहीं महिला प्रत्याशियों की पंचायती चुनाव में भागीदारी ज्यादा देखने को मिल रही है जो कि लोकतंत्र के लिये एक शुभ संकेत माना जा रहा है, निघासन के शीतलापुर गांव से गुड़िया रानी ने दो अन्य पुरुष प्रत्याशियों के सामने प्रधान पद के लिए नामांकन किया है। गुड़िया रानी पूर्व में प्रधान रह चुकी हैं दोबारा फिर से किस्मत आजमाने के लिए उन्होंने इस पद के लिए पर्चा दाखिल कर दिया है।

ग्राम पंचायत शीतलापुर जिसकी आबादी करीब डेढ़ हजार है महिला पुरूष को मिलाकर गांव में करीब 1008 मतदाता हैं जो कि प्रधान पद के लिये चुनाव लड़ रहे तीन प्रत्याशियों के भाग्य का फैंसला करेंगे।

अगर बात करें विकास कार्यों की तो इस गाँव की तस्वीर बहुत ही बदली बदली सी नजर आती है। पहली बार इस ग्राम पंचायत में चुनी गयी महिला प्रधान गुड़िया रानी ने गाँव मे विकास कार्यों का खाका तैयार किया है । ग्राम पंचायत में देखा जाये तो सबसे पहले हम बात करते हैं पंचायत भवन की जो कि बहुत सुंदर बनने के साथ साथ ही ख़ासतौर से आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

शीतला पुर ग्राम पंचायत में गाँव मे जाने वाले ग्रामीणों के घरों तक इंटरलॉकिंग मार्ग का निर्माण कराया गया हैं। गाँव में पक्की नालियां बनी हुई हैं। सामुदायिक स्वच्छ सुलभ शौचालय के साथ साथ प्राथमिक विद्यालय में यूपी सरकार के द्वारा संचालित कायाकल्प योजना के अंतर्गत विद्यालयों में सौंदर्यकरण के साथ ही फर्श पर टायल्स का भी काम कराया गया है।

गाँव मे बने आंगनबाड़ी केंद्र भी सुचारू रूप से चल रहे हैं। जंगल से सटे इस गाँव मे घर घर में स्वच्छ पीने के लिये पानी उपलब्ध है। मनरेगा योजना के अंतर्गत भी बहुत से कार्य गाँवो में हुए हैं। पात्र लोगों को पीएम आवास ,शौचालय व जरूरतमंद लोगों को मनरेगा के तहत काम दिया जा रहा हैं ।यहां के ग्रामीणों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि गांव में जिसने विकास कराया गांव की जिसने तस्वीर बदली है हम उसी को वोट करेंगे ।

कुल मिलाकर देखा जाये तो महिला प्रधान गुड़िया रानी ने ग्राम पंचायत को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने का काम किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button