नए साल पर अच्छी खबर: WHO ने इस वैक्सीन को दी मंजूरी, शुक्रवार को भारत भी करेगा बड़ा ऐलान…

कोरोना महामारी का कहर पूरी दुनिया में लगातार जारी है। तमाम ऐहतियात और सावधानियां बरतने के बावजूद यह खतरनाक वायरस लोगों को अपना शिकार बना रहा है।

कोरोना महामारी का कहर पूरी दुनिया में लगातार जारी है। तमाम ऐहतियात और सावधानियां बरतने के बावजूद यह खतरनाक वायरस लोगों को अपना शिकार बना रहा है। हर रोज इससे संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है, साथ ही इसकी चपेट में आनें से मौत के आंकड़े में भी लगातार इजाफा हो रहा है। इस महामारी से निजात पाने के लिए पूरा विश्व इसकी वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार कर रहा है, जिसके लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक शोध में जुटे हैं।

वैक्सीन को लेकर बड़ी खबर

इसी बीच इस महामारी से बाहर निकालने वाली वैक्सीन को लेकर बड़ी खबर आई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने फाइजर (Pfizer) और बायोएनटेक (BioNTech) की कोरोना वायरस  वैक्सीन (Corona Vaccine) के इमरजेंसी इस्तेमाल को हरी झंडी दिखा दी है। इसी के साथ दुनियाभर में फाइजर की वैक्सीन के इस्तेमाल का रास्ता खुल गया है। संयुक्त राष्ट्र की इस संस्था की मंजूरी मिलने के बाद अब दुनियाभर के देशों में फाइजर की वैक्सीन के इस्तेमाल का रास्ता खुल गया है।

ये भी पढ़ें – किसान की हैं दो पत्नियां और छह बच्चे फिर भी अपने पालतू कुत्ते के साथ किया कुछ ऐसा कि….

फाइजर की वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी देते हुए डब्लूएचओ ने कहा कि वह दुनियाभर में स्थित अपने क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से वहां के देशों से इस वैक्सीन के लाभ के बारे में बात करेगा। वहीं, भारत भी आज (शुक्रवार) कोरोना वायरस वैक्सीन के इमरजेंसी यूज को लेकर बड़ा फैसला लेगा, इस बारे में एक महत्वपूर्ण बैठक होनी है।

फाइजर की वैक्सीन को मंजूरी

डब्ल्यूएचओ ने जारी अपने बयान में कहा है कि उसने विस्तृत जांच और टेस्ट के बाद ही फाइजर की वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी दी है। इसी के साथ ही गरीब देशों को जल्द से जल्द वैक्सीन पहुंचाने के लिए ‘इमरजेंसी यूज लिस्टिंग’ प्रक्रिया पर भी तेजी से काम चल रहा है।

ये भी पढ़ें – फेसबुक पर बनी सहेली से युवती ने कर ली शादी और उसके बाद….

आपको बता दें कि इस लिस्ट में शामिल होने के बाद किसी भी कोरोना वैक्सीन को दुनियाभर के देशों में आसानी से आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल जाएगी। इसके साथ ही कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि मौजूदा उपायों को अपनाकर इसे बचा जा सकता है।

वैक्सीन के दो डोज के बाद कोरोना से मौत की संभावना कम

डब्लूएचओ ने फाइजर वैक्सीन की समीक्षा के बाद कहा कि इस वैक्सीन (Corona Vaccine) से सुरक्षा और प्रभावकारिता के लिए अवश्य ही मानदंड मिलना चाहिए। इसके दो डोज लेने के बाद कोरोना से मौत की संभावना भी कम हो जाती है। संगठन के मुताबिक, इस वैक्सीन को जल्दी मंजूरी दी गई है, ताकि सभी लोगों तक इसकी डोज पहुंचने में देरी न हो।

ये भी पढ़ें – मथुरा: श्रद्धालुओं ने गौमाता गुड दलिया खिला कर मनाया नववर्ष

वहीं, केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी शुक्रवार यानी आज वैक्सीन की अनुमति को लेकर बड़ा फैसला ले सकती है, जिसको लेकर बैठक आयोजित की जाएगी। इस बैठक में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया, फाइजर और भारत बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड की वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की अनुमति मिलने का अनुमान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button