प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल ने जनता और पोलिसकर्मियों के बीच समानता स्थापित करने के लिए दिए बड़े निर्देश

डीजीपी की ओर से पुलिस अधिकारियों को जो दिशा-निर्देशों जारी किये गए है उसमे कहा गया है कि प्रत्येक पुलिसकर्मी आम जनमानस के साथ मर्यादित एवं शिष्ट व्यवहार बनाये रखे।

जनता और पुलिस के बीच के दरार को खत्म करने के लिए सूबे के पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल ने पुलिस अधिकारियों को इस बात पे ध्यान देने को कहा है कि प्रदेश की जनता से शालीन एवं मर्यादित व्यवहार के साथ पुलिस कर्मी पेश आये। ताकि लोग पुलिस से डरे न बल्कि उन्हें अपनी समस्याएं बता सके, उन्हें अपना मित्र समझें। इसके साथ ही लोगों से कैसे मर्यादित व्यवहार किया जाता है इसका भी पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया जायेगा।

सभी जोन के अधिकारियों को दिया गया है निर्देश

प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल ने प्रदेश के सभी जोनल अधिकारियों को इस बात के निर्देश दिए है। जिनमे अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस आयुक्त लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, कानपुर, वाराणसी, रीजनल पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक तक सभी को इस बात का ध्यान रखना है की प्रदेशवासियों के साथ पुलिस प्रशासन की तरफ से किसी भी प्रकार की कोई भी परेशानी नहीं होनी चाहिए।

डीजीपी द्वारा दिए गए निर्देश

डीजीपी की ओर से पुलिस अधिकारियों को जो दिशा-निर्देशों जारी किये गए है उसमे कहा गया है कि प्रत्येक पुलिसकर्मी आम जनमानस के साथ मर्यादित एवं शिष्ट व्यवहार बनाये रखे। पुलिसकर्मियों को जनता के साथ मर्यादित व्यवहार को लेकर उन्हें प्रशिक्षित किया जाये।

पोलिसकर्मियों को लेनी होंगी क्लास

डीजीपी मुकुल गोयल ने इस बात का भी निर्देश दिया है कि प्रत्येक जनपद में नियुक्त राजपत्रित/अराजपत्रित अधिकारियों/कर्मचारियों की दो चरणों में मर्यादित आचरण विषयक एक दिवसीय प्रशिक्षण/कार्यशाला कराई जायें। इसके साथ ही लिसकर्मियों के प्रशिक्षण हेतु स्थानीय विषय विशेषज्ञों की भी सेवाएं प्राप्त की जाएं तथा जनता के साथ पुलिस द्वारा अच्छे व्यवहार सम्बन्धित विषयों पर व्याख्यान भी कराया जायें।

आपको बता दे कि प्रदेशवासियों में पुलिस की जो गलत छवि बनी हुई है, डीजीपी मुकुल गोयल उसी को हटाने के काम में लगे हुए है, और अगर सब सही रहा तो पुलिस और आम जनता एक साथ मिलकर काम करेगी और अपराधों पर रूक लगाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button