आजमगढ़ : आंगनबाड़ी से मिले दूध को पीने से दो जुड़वा बच्चे की हुई मौत, परिवार में मचा हड़कंप

मुबारकपुर थाना क्षेत्र के काशीपुर गांव में शनिवार को आगनबाडी से मिले दूध को शुक्रवार की देर रात पीने से दो जुड़वां बच्चों के मौत हो गई।मौत होने से परिवार में हड़कंप मच गया,

मुबारकपुर थाना क्षेत्र के काशीपुर गांव में शनिवार को आगनबाडी से मिले दूध को शुक्रवार की देर रात पीने से दो जुड़वां बच्चों के मौत हो गई।मौत होने से परिवार में हड़कंप मच गया, वहीं परिजनों ने जांच की मांग को लेकर घंटों कब्रिस्तान पर प्रदर्शन किया, परिजनों के अनुसार रात में एक बजे पैकेट का दुध पिलाया गया था, मौके पर पंहुचे चिकित्सकों ने फुड पाइंजनिंग या दम घुटने से बच्चों के मरने का अंदेशा व्यक्त किया है, ग्रामीण ने जांच की मांग को लेकर घंटों कबरिस्तान पर शवों को लेकर जमें थे, काशीपुर निवासिनी मधुबाला पत्नि दिवाकर राम को दो माह पूर्व निजी अस्पताल में जुड़वां बच्चे पैदा हुए थे।

ये भी पढ़ें – अजब गजब- ट्रेन के नीचे से रास्ता पार कर रही थी महिला फिर अचानक चल पड़ी ट्रेन….

परिजनों के अनुसार जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ थे, रात एक बजे मधुबाला ने दोनों बच्चों को आंगनबाड़ी से मिले पैकेट के दुध का घोल बनाकर पिलाया, और सो गई, शनिवार की सुबह चार बजे देखा तो उसके होश उड़ गए, चिखने चिल्लाने पर आस पास के लोग पंहुचे और घटना की जानकारी ग्राम प्रधान कमला देवी, आशा बहू, आंगनबाड़ी कार्यकत्री कोो दी, इसके बाद सभी मौके पर पंहुचे और लगभग 30 परिवारों में वितरित किये गए दुध को प्रयोग करने से मना किया, ग्रामीणों की सुचना पर स्वास्थ्य केन्द्र सठियांव के प्रभारी बृजेश कुमार, डा प्रशांत कुमार राय, अलीम अख्तर ने मौके का मुआइना कर बताया कि मूल कारण पी एम के बाद पता चलेगा, वैसे प्रथम दृष्टया बच्चों की मौत का कारण दम घुटने या फुड पाइंजनिंग हो सकता है, कबरिस्तान पर गांव के लोग उपस्थित थे, और जांच के बाद दफनाने की बात कर रहे थे, मुख्य रूप से प्रधान कमला देवी, आशा विद्यावती देवी, राधिका, महेंद्र वकिल, प्यारे लाल आदि उपस्थित थे, वहीं मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी डीके राय ने बतया कि जांच का विषय है, लेकिन जो दूध वितरण किया गया है।उस पर लिखा हुआ है कि छ माह से अधिक के बच्चो को पिलाया जाना है।

Report- Aman Gupta

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button