औषधिय गुणों से भरपूर अचार का अत्यधिक सेवन हो सकता हैं हानिकारक

आम, नींबू और गाजर जैसे हेल्दी फलों और सब्ज़ियों में हल्दी, धनियां, कलौंजी और सरसों जैसे आयुर्वेदिक और औषधिय गुणों से भरपूर मसालों के मिश्रण से बनने वाले अचार को लेकर हालांकि, कई तरह की बातें की जाती हैं। अक्सर, यह सवाल उठता है कि क्या अचार हमारी सेहत के लिए नुकसान पहुंचता है? अचार के सेवन से जुड़ी कुछ ऐसे ही मिथकों के बारे में सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रूजुता ने हाल ही में बात की और बताया कितनी सच और कितनी झूठी हैं ये बातें।

रूजुता दिवेकर कहती हैं कि, ब्लड प्रेशर बढ़ने की वजह नमक नहीं बल्कि, हमारी लाइफस्टाइल से जुड़ी आदतें हैं। जैसे, एक्सरसाइज़ ना करना, नींद की कमी, जंक फूड खाने जैसी आदतों की वजह से लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है। हालांकि, जो लोग अपनी डायट में साधारण समुद्री नमक की बजाय, काला नमक और सेंधा नमक का प्रयोग कर सकते हैं।

तेल के सेवन से दिल की बीमारियां नहीं होती-यह कहना है रूजुता दिवेकर का। ब्लड प्रेशर की तरह हार्ट डिज़िज़ेज भी लाइफस्टाइल मिस्टेक्स की वजह से बढ़ती हैं। रूजुता दिवेकर सलाह देती हैं कि अपनी पारिवारिक और क्षेत्र विशेष की पाक कला में इस्तेमाल होने वाले नैचुरल तेलों का प्रयोग अचार बनाने के लिए करना चाहिए। इससे घर का बना अचार हेल्दी और सुरक्षित बनता है। जबकि, कमर्शियल अचार का सेवन करने से बचना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button