शरीर के लिए किसी जहर से कम नहीं है Smoking, इसकी लत से पाना हैं छुटकारा तो अपनाएं ये तरीका

आज देशभर में नो स्मोकिंग डे मानाया जा रहा है. हर साल मार्च महीने के दूसरे बुधवार को नो स्मोकिंग डे मनाया जाता है. इस दिन को मनाने का मकसद लोगों के बीच स्मोकिंग के प्रति जागरूकता फैलाना है ताकि वह धूम्रपान की लत को छोड़ सकें.

स्मोकिंग बंद करेंगे तो शरीर में निकोटिन घटेगा। भूख बढ़ेगी और मोटापा बढ़ सकता है इसलिए लो- कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ जैसे अंगूर, सूप, सभी सब्जियां आदि खाएं। धूम्रपान और तंबाकू का गुटखा या पान मसाले के साथ सेवन फेफड़ों का कैंसर, स्ट्रोक, हृदय रोगों का खतरा बढ़ाता है। यदि कोई व्यक्ति धूम्रपान छोडऩा चाहता है तो घरवाले और दोस्त उसकी मदद करें। उसे बार-बार उसकी गलत हरकतों के लिए ताने देने से बचना चाहिए।

ट्रिगर पाइंट से दूर रहें

बहुत से लोगों को चाय -कॉफी और शराब के साथ सिगरेट पीने की आदत होती है. इन कारणों को ट्रिगर कहते हैं. इन चीजों से बचने की कोशिश करें. अगर आप किसी पार्टी में जा रहे है जहां आपके दोस्त स्मोकिंग करेंगे तो वहां न जाएं. कुछ समय के लिए इन दोस्तों से दूरी बना लें. इन चीजों से सिगरेट छोड़ने में मदद मिलगी

क्रेविंग हो तो ध्यान भटकाएं

किसी भी चीज की तलब कुछ समय तक के लिए होती है. इस दौरान आप अपना ध्यान अन्य बातों में लगाएं. अगर आपने उस समय खुद को कंट्रोल कर लिया तो आपकी यह आदत बन जाएगी. सिगरेट पीने की तलब पर कंट्रोल करना आपके लिए जीत से कम नहीं है.

निकोटिन थेरेपी अपनाएं

कई स्टडी में कहा गया है कि सिगरेट छोड़ने के लिए निकोटिन थेरेपी कारगर है. सिगरेट छोड़ने के दौरान सिर दर्द, मूड खराब होना और एनर्जी कम महसूस होना आम बात है. आप स्मोकिंग की आदत को निकोटिन गम और पैच का इस्तेमाल कर छोड़ सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button