मंदिर में साधु और साध्वी दो पुजारियों की निर्मम हत्या का हुआ खुलासा

उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले के परसामलिक थाने के अंतर्गत ग्रामसभा महदेईया की मंदिर में दो पुजारियों की निर्मम हत्या कर दिया गया था।

उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले के परसामलिक थाने के अंतर्गत ग्रामसभा महदेईया की मंदिर में दो पुजारियों की निर्मम हत्या कर दिया गया था। डबल मर्डर के वारदात से क्षेत्र में सनसनी मची हुई थी  और महिला पुजारी की हत्या से लोगों में खासी नाराजगी थी और क्षेत्र में चर्चा का विषय बना था। कि बीजेपी के राज में मंदिर में साधु महात्मा समेत दो पुजारियों की हत्या ने लचर कानून व्यवस्था की पोल खोल दिया था।

इसे भी पढ़ें – जहरखुरानी के शिकार युवक को जिला अस्पताल में किया गया भर्ती

आखिरकार आज पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने प्रेस वार्ता कर साधु और साध्वी हत्या का खुलासा कर दिया है। उन्होंने बताया कि घटना में शामिल अन्य व्यक्ति रोहित उपरोक्त के बारे में हिकमत अमली से पूछताछ करने पर सोनू ने बताया कि साहब रोहित मेरे बड़े भाई राजू का साडू है। जो मेरा मित्र है जो फरेंदा कस्बा मोहल्ला मे रहता है। उससे घटना के बारे में पूछताछ की गई तो बताने लगा कि साहब इस समय मैं बेरोजगार हूं इसी कारण इधर-उधर घूमता रहता हूं। इसी दौरान  मेरी मुलाकात मेरे साढू के छोटे भाई सोनू उर्फ संतोष से हुई मुलाकात के दौरान ही मैंने सोनू को महदेईया कुट्टी पर टंगे घंटियों के बारे में बताया की थोड़ी सी मेहनत में काफी पैसा मिल सकता है।

इसी के तहत दिनांक 18-11-2021 को शाम लगभग 6:00 बजे हम दोनों लोग मेरे मोटरसाइकल सुपर स्प्लेंडर से बरगदही से चलकर महदेईया बकुलादह स्थित अपने ससुराल आए और हम दोनों शराब बैठ कर पिए शराब पीने के बाद मैं और सोनू बनाई गई। योजना के अनुसार पैदल ही महदेइया  कुट्टी पर पहुंचकर मंदिर के पास पुवाल में छिपकर आहट लेते रहे। काफी देर बाद जब हम दोनों को लगा कि साधु और साधुवाइन सो गए हैं तो मैं और सोनू मंदिर में लगे घंटों को लूटने का प्रयास करने लगे।

इसी बीच साधूवाइन जग गई और हम लोगों को कौन हो कौन हो की आवाज देने लगी की उसी समय बाबा भी जग गए तथा लाठी लेकर हम दोनों की तरफ मारने के लिए आगे बढ़े हम दोनों बाबा से लड़ गए तथा बाबा की लाठी छीन कर  उनके सर पर मारने लगे। बाबा जमीन पर गिर गए साधु वाइन भी मौके पर ही लाठी के प्रहार से मौके पर गिर गई दोनों लोग जमीन पर गिरकर छटपटाने लगे तो हम दोनों उनको घसीट कर कुछ दूर ले जाकर रख दिए मंदिर के चबूतरे पर रखी एक छोटी हाथी की मूर्ति उठाकर बाबा के सर पर पटक दिए और विश्वास कर लिए कि दोनों मर गए हैं। हम आपस में बांट लिए दोनों अभियुक्त को पुलिस हिरासत में ले लिया गया। वह अभियुक्तों की निशानदेही पर मिट्ठू कौशल पुत्र केसरी प्रसाद निवासी बर्तन गली थाना नौतनवा के दुकान से चोरी का बेचा। हुआ कुल 13 अदद छोटे-बड़े पीतल पीले दांतो की घंटे बरामद किया गया दोनों अभियुक्त गणों ने अपना जुर्म स्वीकार किया है। विविध कार्रवाई करते हुए जेल भेजा जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button