भारत के लिए अगले 3-4 हफ्ते रहेंगे बेहद मुश्किल, अभी तो बस आपने देखा हैं कोरोना की दूसरी लहर का ट्रेलर!

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को भी चौंका दिया है। क्योंकि, इसबार वायरस के रूप बदलने की बात तो सामने आ ही रही है, उसने अपनी वजह से इंसानी शरीर में पैदा होने वाले लक्षणों को भी बदल दिया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों की मानें भारत में रोजाना जितने टेस्ट हो रहे हैं उसकी तुलना में पॉजिटिव निकलने वालों की संख्या (Positivity rate) दोगुनी हो गई है. महज 12 दिन पहले जहां देश में पॉजिटिविटी रेट 8 प्रतिशत था वह अब बढ़कर 16.7 प्रतिशत हो गया है.

इसबार पिछले साल के मुकाबले उसके प्रभाव में भी बदलाव दिख रहा है। जैसे कि इसबार वेंटिलेटर की आवश्यकता की जगह ऑक्सीजन देने की ज्यादा जरूरत महसूस हो रही है। इसी तरह से डॉक्टरों को वैक्सीन लेने की योजना बना रहे लोगों को सलाह है कि अगर उन्हें कोविड का थोड़ा सा भी लक्षण महसूस हो तो वह इसमें जल्दीबाजी ना करें और थोड़ा इंतजार करें, क्योंकि इसके परिणाम नुकसान वाले हो सकते हैं।

इससे भी अंदाजा लगाया जा सकता है  वायरस कितनी तेज रफ्तार से लोगों को संक्रमित कर रहा है (Transmission rate of virus). डॉक्टरों की मानें तो इस तरह के वायरस बहुत जल्दी म्यूटेट हो जाते हैं और फिर उनका म्यूटेटेड वेरिएंट वायरस (Mutated variant) ज्यादा तेजी से फैलता है.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button