अद्भुत: अगर आप भी पाना चाहते हैं मनवांछित फल तो मंदिर में प्रवेश से पहले जरूर करें ये काम…

अगर आप भी पाना चाहते हैं मनवांछित फल तो मंदिर में प्रवेश से पहले जरूर करें ये काम...

आपने अक्सर मंदिरों (Tepmle) के गेट पर कई सारी घंटियां (Bells) लटकती हुई देखी होंगी। कोई भी भक्त मंदिर के अंदर प्रवेश करने से पहले गेट पर लटकती हुई घंटियों को बजाता है, फिर मंदिर के अंदर जाता है। क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों होता है? आखिर क्यों मंदिरों के गेट पर घंटियां लटकाई जाती हैं और हर कोई मंदिर में घुसने से पहले घंटी बजाता है और फिर मंदिर के अंदर प्रवेश करते हैं?

क्या आपको पता है कि मंदिर में आखिर घंटी क्यों लगाई जाती हैं? तो चलिये आज हम आपको बताते हैं कि मंदिर में घंटी लगाने की असली वजह बेहद खास है।

यह भी पढ़ें- जानें, किसान नेता राकेश टिकैत ने क्यों कहा- तिरंगा सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी का है ?

जब कभी भी को भक्त सुबह या शाम को मंदिर में पूजा करने आता है तब वह घंटियां (bells) बजाता है। ऐसी मान्यता है कि घंटी बजाने से मंदिर से स्थापित देवी-देवताओं की मूर्तियां में चेतना जागृत होती है।

Temple bells के लिए इमेज नतीजे

माना जाता है कि मंदिर में घंटियां (bells) बजाकर प्रवेश करने के बाद भक्त द्वारा की गई पूजा अधिक फलदायक होती है, जिससे आपको मनवांछित फल प्राप्त होता है। पुराणों में कहा गया है कि मंदिर में घंटी बजाने से इंसानों के कई जन्मों के पाप स्वत: नष्ट हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें- गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन तेज होते देख पुलिस ने NH-24 हाईवे को किया बंद

मंदिर के बाहर लगी घंटी को काल का प्रतीक भी माना जाता है। जब सृष्टि का प्रारम्भ हुआ तब जिस प्रकार की आवाज गूंजी थी, वैसी ही आवाज घंटी बजाने पर भी आती है। इसी वजह से मंदिर में प्रवेश में पहले घंटी बजाई जाती है। संत-महात्माओं का कहना ह कि जब धरती पर प्रलय आएगी, तब भी घंटी बजाने जैसा ही नाद सुनाई देगा।

Temple bells के लिए इमेज नतीजे

इसके अलावा मंदिर में घंटी बजाने के पीछे वैज्ञानिक कारण भी है। वैज्ञानिकों का कहना है कि घंटी बजाने से वातावरण में कंपन पैदा होता है। यह वायुमंडल के कारण काफी दूर तक जाता है। घंटी (bells) बजाने के बाद वायुमंडल में पैदा हुए कंपन की सीमा में आने वाले सभी जीवाणु, विषाणु और सूक्ष्म जीव नष्ट हो जाते हैं। इससे मंदिर और उसके आसपास का वातावरण बिल्कुल शुद्ध हो जाता है।

यह भी पढ़ें- गाजीपुर बॉर्डर: नरेश टिकैत ने इंटरनेट बंद होने पर ट्वीट कर कही बड़ी बात, लिखा- सरकार का वहम…

माना जाता है कि जहां हर रोज घंटी बजने की आवाज आती है, वहां का वातावरण हमेशा शुद्ध और पवित्र रहता है। घंटी बजाने से नकारात्मक शक्तियां भी खत्म हो जाती हैं और इंसान की जिंदगी में सुख-समृद्धि के द्वार खुल जाते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button