स्कूलों में फिर लौटी रौनक, शिक्षकों ने किया छात्रों का फूलमालाओं और कक्षाओं को सजाकर जबरदस्त स्वागत

जहां बाकायदा स्कूल पहुंचने पर बच्चों का स्वागत किया गया। कोरोनावायरस के कारण छात्र अपने घर पर ही बैठे हुए थे लेकिन वहीं छात्र स्कूल खुलते ही शिक्षा ग्रहण करने के साथ साथ-खेलकूद प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगे।

 काफी लंबे समय से बंद चल रहे कक्षा एक से 5 तक के स्कूलों को खुलने का आदेश मिलते ही शिक्षा का मंदिर कहे जाने वाले स्कूलों में रौनक लौट चुकी है। आज प्रदेश में पहली क्लास से पांचवी क्लास तक के स्कूल (schools) खुल गए हैं।

जहां बाकायदा स्कूल (schools) पहुंचने पर बच्चों का स्वागत किया गया। कोरोनावायरस के कारण छात्र अपने घर पर ही बैठे हुए थे लेकिन वहीं छात्र स्कूल खुलते ही शिक्षा ग्रहण करने के साथ साथ-खेलकूद प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगे। शासन के आदेश के बाद स्कूलों में बच्चों के मनोरंजन की पूरी व्यवस्था की गई है।

पहली बार स्कूलों में छात्रों का आगमन हुआ

अलीगढ़ के तहसील इगलास में स्थित प्राथमिक विद्यालय असावर में प्रदेश सरकार के आदेश के बाद कोरोना काल के काफी लंबे अरसे के बाद पहली बार स्कूलों (schools) में छात्रों का आगमन हुआ।

ये भी पढ़ें- चेहरे पर शिकन नहीं, बल्कि स्माइल करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने लगवाया टीका, खूब वायरल हो रही हैं फोटोज

जिसको लेकर स्कूल (schools) के अध्यापकों के द्वाराशिक्षा का मंदिर भव्य तरीके से सजाया गया,और स्कूल में आने वाले छात्रों के स्वागत में चार चांद लगाने के लिए फूलमालाओं से उनका स्वागत किया गया।

…और उनके खाने के लिए टॉफी बिस्किट और रेबडी बांटी गई

साथ ही छात्रों को मास्क व सेनेटाइजर बांटे गए,स्कूलों में समय से पहुंचे । कक्षा पहली से पांचवी तक के बच्चों का तिलक लगाकर अभिनंदन भी किया गया और उनके खाने के लिए टॉफी बिस्किट और रेबडी बांटी गई।

ये भी पढ़ें- चारा लेने गई किशोरी का मिला अर्द्धनग्न शव, ग्रामीणों ने दरिंदगी की जताई आशंका, बवाल में इंस्पेक्टर घायल

आने वाले सभी बच्चों को गेट पर पहले सैनिटाइजर कराया जा रहा है उसके बाद उनका नाम पता भी लिखा जा रहा है। जिससे किसी को कोई परेशानी होती है तो उसको तुरंत ही उपचार व्यवस्था कराई जा सके।

वहीं दूसरी ओर खण्ड शिक्षा अधिकारी अखिलेश प्रताप सिंह के द्वारा जगह जगह जाकर स्कूलों को चैक किया साथ ही स्कूल (schools) स्टाफ को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए।

वहीं प्राथमिक विधायलय असावर की प्रन्सिपल के द्वारा बताया गया। आज काफी लंबे समय के बाद स्कूलों में छात्र ये है उनका जबरदस्त स्वागत किया गया है। साथ ही उनके मनोरंजन के लिए काफी प्रतियोगिता करवाई जाएगी।

रिपोर्ट- ख़ालिक़ अंसारी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button