वरिष्ठ शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा के निधन पर सपा प्रमुख ने जताया गहरा शोक

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने वरिष्ठ शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा के निधन पर गहरा शोक जताया है।

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने वरिष्ठ शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा के निधन पर गहरा शोक जताया है। रविवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की और शोक संतप्त परिवार के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त की है।

‘प्रदेश की शिक्षक राजनीति में अपूरणीय क्षति’

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि ओम प्रकाश शर्मा जी के निधन से प्रदेश की शिक्षक राजनीति में अपूरणीय क्षति हुई है। वे 48 वर्ष तक शिक्षक क्षेत्र से एमएलसी रहे।

यह भी पढ़ें- सपा सरकार के अच्छे कामों को भाजपा सरकार ने बर्बाद कर दिया : सपा प्रमुख अखिलेश यादव

उन्होंने (Akhilesh Yadav) कहा कि विधान परिषद में वे शिक्षकों की आवाज जोरदार ढंग से उठाते थे। अपने जीवन के अन्तिम दिन भी वे शिक्षक हितों के लिए मेरठ में धरना कार्यक्रम में शामिल रहे थे।

भाजपा सरकार पर साधा निशाना

इसके अलावा सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा है कि भाजपा सरकार ने अपने कार्यकाल के चार सालों में सार्थक तो कुछ किया नहीं, जो अच्छे काम समाजवादी सरकार में हुए थे, उन्हें भी बर्बाद कर दिया। प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं खुद बीमार हो गई हैं। गरीब का इलाज मंहगा तो हुआ ही, अस्पतालों में अव्यवस्था का शिकार भी वही बन रहा है। मुख्यमंत्री जी की कोशिश हर क्षेत्र में कथित उपलब्धियों पर श्रेय लेने की रहती है। हकीकत से उनका कोई वास्ता ही नहीं है।

यह भी पढ़ें- Farmers Protest: ‘हम यहां ठंड से मर रहे हैं और सरकार हमें ‘तारीख पे तारीख’ दे रही’

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि भाजपा को वैक्सीन पर दावा क्यों करना चाहिए? यह एक अत्यंत संवेदनशील मसला है। समाजवादी पार्टी का वैज्ञानिकों की दक्षता पर पूरा भरोसा है, पर भाजपा की ताली-थाली वाली अवैज्ञानिक सोच एवं भाजपा सरकार की चिकित्सा व्यवस्था पर भरोसा नहीं है। जनता में भरोसा हो इसके लिए सरकार को टीकाकरण में पारदर्शिता के साथ व्यवस्था की खामियां भी दूर होनी चाहिए। भाजपा नादानी न करे, ‘‘नादान की दोस्ती जी का जंजाल‘‘ बन जाती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button