सीतापुर: पुत्र के हत्यारों को गिरफ्तार करवाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं माता पिता

सीतापुर देश का न्याय तंत्र इस समय गरीबों के साथ न्याय नही कर रहा है। जिसका जीता जागता सबूत सीतापुर कोतवाली देहात मे साफ साफ दिखाई दे रहा है।

सीतापुर देश का न्याय तंत्र इस समय गरीबों के साथ न्याय नही कर रहा है। जिसका जीता जागता सबूत सीतापुर कोतवाली देहात मे साफ साफ दिखाई दे रहा है। जहां पिछले माह एक युवक को लटकाकर उसकी हत्या कर दी गई थी मगर एक महीने के बाद भी प्रशासन की तरफ से कोई जांच तक नही की जा सकी है।

बल्कि पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टर सहित पुलिस प्रशासन भी इस हत्या को दबाने की कोशिश कर रहा है। आपको बता दें कि ग्राम रामपुर टिकवापारा निवासी छत्रेश्वर दयाल मिश्र के 19 वर्षीय पुत्र की उसी गांव के कुछ दबंगो ने हत्या कर दी थी।हत्या करने के बाद हत्यारों ने आत्महत्या दर्शाने की नीयत से पेड़ से लटका दिया था। मगर लटका हुआ शव साफ साफ हत्या की गवाही दे रहा था।जिसकी सूचना गांव वालों ने पुलिस के उच्चाधिकारियों को दी थी।घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने आनन फानन मे लिखा पढी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए मुख्यालय भेज दिया था।

जिसमे डाक्टरों ने मृतक के द्वारा आत्महत्या दर्शाकर अपने फर्ज से इतिश्री कर ली।पुलिस ने भी जांच को ठंडे बस्ते मे डालकर अपनी कार्यशैली पर पूर्णविराम लगा दिया। जिससे आहत होकर मृत युवक के माता पिता ने सीतापुर जिले के अधिकारियों से लेकर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ तक न्याय की गुहार लगाई। मगर नतीजा सून्य ही नजर आया है। अब सवाल ये उठता है कि खुद को गरीबों की हमदर्द बताने वाली भाजपा सरकार मे एक गरीब माता पिता को न्याय मिल सकेगा या न्याय के लिए दबी लाखों करोड़ों फाइलों मे एक गरीब की फाइल और दबकर रह जाएगी।

रिपोर्ट पंकज कश्यप

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button