सिंघु बॉर्डर: आंदोलन कर रहे किसानों से भिड़े ग्रामीण, तलवार लगने से पुलिस अधिकारी…

सिंघु बॉर्डर पर भारी हंगामा देखने को मिल रहा है. स्थानीय लोगों और किसानों के बीच टकराव हो रहा है. स्थनीय लोग आगे बढ़कर किसानों के साथ टकराव मोल ले रहे हैं.

सिंघु बॉर्डर पर भारी हंगामा देखने को मिल रहा है. स्थानीय लोगों और किसानों (farmers) के बीच टकराव हो रहा है. स्थानीय लोग आगे बढ़कर किसानों (farmers) के साथ टकराव मोल ले रहे हैं. दोनों पक्षों में हल्की झड़प हो रही है और पुलिस लोगों पर लाठीचार्ज कर रही है.सिंघु बॉर्डर पर जारी हंगामे के बीच एसएचओ को तलवार लग गई है और एचएसओ घायल हो गए हैं.

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों (farmers) का आंदोलन खत्म करवाने को लेकर शुरू हुए हंगामे के बीच अब भाकियू नेता राकेश टिकैत (rakesh tikait) ने ऐलान किया है कि, वो गिरफ्तारी नहीं देंगे सरकार से बात करेंगे. राकेश टिकैत ने कहा कि, धरना स्थल पर जो सुविधाएं प्रशासन की तरफ से दी गई थीं उन्हें फिर से दी जाएं. बीते गुरुवार की शाम को गाजीपुर बॉर्डर से किसानों को हटाने के लिए भारी फोर्स तैनात की गई थी. लेकिन राकेश टिकैत (rakesh tikait) अपनी जिद पर अड़े रहे और उन्होंने धरना खत्म करने से साफ इनकार कर दिया था. राकेश टिकैत ने कहा था कि, अगर कुछ होता है तो उसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी.

उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि, बीजेपी के कुछ विधायक और उनके समर्थकों ने किसानों (farmers) को पीटा है और गिरफ्तारी के बाद उनके साथ मारपीट करने का प्लान बनाया गया है. इसलिए वो गिरफ्तारी नहीं देंगे. इसके साथ उन्होंने मीडिया के सामने रोते हुए कहा था कि, अगर सरकार कृषि कानून वापस नहीं लेती है तो आत्महत्या कर लेंगे.

यह भी पढ़ें- गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे RLD नेता जयंत चौधरी, बोले- सरकार को लगता है कि वे किसानों को कुचल देंगे, लेकिन…

राकेश टिकैत (rakesh tikait) के इस ऐलान के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के आने की हलचल तेज हो गई है. बॉर्डर पर लगातार किसानों का आना जारी है. वहीं किसानों की तरफ से महापंचायत बुलाई गई है जिसमें आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा. नरेश टिकैत ने कहा है कि, अब जो भी होगा वो प्रशासन देखेगा. लेकिन आंदोलन खत्म नहीं होगा.

वहीं राकेश टिकैत (rakesh tikait) के समर्थन में कई राजनीतिक पार्टियों के नेता भी आ गए हैं. आरएलडी के नेता जयंत चौधरी शुक्रवार की सुबह की गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंच गए हैं. इसके अलावा किसानों (farmers) के आने की हलचल से भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button