वसीम रिजवी ने बनवाई अपनी कब्र और पत्थर पर लगवाई अपनी फोटो, जानें आखिर क्या है सच्चाई ?

कभी बाबरी मस्जिद तो कभी मदरसों पर विवादित बयान देने को लेकर सुर्खियों में रहने वाले शिया वक्फ बोर्ड (Shia Waqf Board) के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) के कब्र की एक फोटो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

कभी बाबरी मस्जिद तो कभी मदरसों पर विवादित बयान देने को लेकर सुर्खियों में रहने वाले शिया वक्फ बोर्ड (Shia Waqf Board) के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) के कब्र की एक फोटो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। वसीम रिजवी के मरने की फर्जी खबर सोशल मीडिया पर आग की तैयार फैल रही है। इतना ही नहीं, वायरल हो रही तस्वीर में कब्र पर लगने वाले पत्थर पर वसीम रिजवी की फोटो भी छपी हुई है, जिसे कुछ शरारती तत्वों ने वायरल किया है।

वसीम रिजवी की छपी हुई फोटो वाले इस कब्र के पत्थर पर लिखा हुआ है कि…

‘इस अंजुमन में आपको भी आना है एक बार, दीवारों दर को गौर से पहचान लीजिए।’

इतना ही नहीं, कब्र के इस पत्थर पर वसीम रिजवी के घर का पता भी दर्ज कराया गया है। हालांकि, यह पत्थर कहां पर लगाया गया है, इसकी जानकारी अभी तक नहीं हो पाई है, लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस फोटो से चर्चाएं गर्म है।

यह भी पढ़ें : कारपोरेट दुनिया भाजपा की सरंक्षक है और BJP उनकी पोषक पार्टी : अखिलेश यादव

वहीं, अपनी बयानबाजी के लिए सुर्खियों में रहने वाले वसीम रिजवी का बयान वाला एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने इस मामले को लेकर बड़ा खुलासा किया है। वायरल वीडियो में वसीम रिजवी ने खुद इस कब्र को बनवाने की बात कही है।

वायरल वीडियो में वसीम रिजवी ने कहा कि ‘मेरी राष्ट्रीयवाद सोच, मुस्लिम कट्टरपंथी विचारधारा का विरोध, मदरसों के अंदर आतंकी शिक्षा दिये जाने का विरोध, राम मंदिर वाले मामले में मंदिर का पक्ष रखना… इन सभी मामलों को लेकर पूरी दुनिया का कट्टरपंथी मुस्लमान मेरी हत्या की साजिश करता है। आतंकी संगठन मेरी हत्या करने की कोशिशें करती हैं। दाऊद इब्राहिम जैसा आतंकी मेरी हत्या करने की साजिश करने की कोशिशों में लगातार लगा रहता है। मैंने इन सबको नकारते हुए अपनी जिंदगी में अपनी कब्र और उस पर पत्थर इसलिए लगवा दिया है कि हम अपने विचारों से समझौता नहीं करने वाले हैं, चाहे ये कट्टरपंथी मुस्लमान मेरी गर्दन काटकर मेरी हत्या ही क्यों न कर दें। हम मरकर अपनी कब्र में जाने को तैयार है, लेकिन इन कट्टरपंथी विचारधाराओं से या देश विरोधी ताकतों के आगे हम झुकने को तैयार नहीं है।’

यह भी पढ़ें : प्रशासन की लापरवाही के चलते फिर जिंदा हुआ मुन्ना बजरंगी!, मचा हड़कंप

आपको बता दें कि साल 2018 में भी वसीम रिजवी के कर्बला तालकटोरा में अपनी एक कब्र खरीद करने और उस पर अपने नाम का पत्थर लगाने का मामला सामने आया था। वसीम रिज़वी ने ऐसा करने की वजह उनको आये दिन मिल रही धमकियों को बताया था।

गौरतलब है कि वसीम रिजवी शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन रहते हुए अपनी बयानबाजी के लिए सुर्खियों में बने रहते थे। वसीम अक्सर मदरसे और कट्टर विचारधारा वाले मुसलमान को लेकर बयान दिया करते थे। उनकी इन्हीं बयानबाजी की वजह से वसीम रिजवी को कई बार फोन पर जान से मारने की धमकियां भी मिल चुकी हैं। फिलहाल, वसीम रिजवी का कार्यकाल खत्म हो चुका है, अब वो शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन नहीं हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button