फतेहपुरः सेठ एमआर जयपुरिया को मिली इंटरमीडिट की मान्यता, प्रतियोगी परिक्षाओं की चलेंगी निःशुल्क कक्षाएं 

विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए सेठ एम.आर जयपुरिया विद्यालय-फतेहपुर ने एक नई पहल शुरू की है।

फतेहपुर। आमतौर पर पढ़ाई कर रहे बहुत से बच्चों का सपना होता है कि वह भी डॉक्टर, इंजीनियर बन कर अपने परिवार, विद्यालय व देश का नाम रोशन करें। लेकिन कई बार कई समस्याओं के चलते वह अपनी 12वीं तक की पढ़ाई तो ठीक से कर लेते हैं, लेकिन धनाभाव में बाहर यानी बड़े शहरों में जाकर आगे की तैयारी नहीं कर पाते हैं। जिससे उनके अंदर छुपी प्रतिभा धीरे-धीरे समाप्त हो जाती है। प्रतियोगिता के इस बढ़ते दौर में कोचिंग के बिना शायद ही सफलता संभव है।

 

निःशुल्क चलेंगी प्रतियोगी परीक्षाओं की कक्षाएं

विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए सेठ एम.आर जयपुरिया विद्यालय-फतेहपुर ने एक नई पहल शुरू की है। उन्होंने बच्चों को समय पर उचित शिक्षा मिल सके। इसके लिए कक्षाओं के साथ-साथ IIT, JEE, AIEEE और NEET जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु विद्यालय में ही ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने का निर्णय लिया गया है। खास बात यह है कि इसके लिए बच्चों को कोई अन्य शुल्क देने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इंटरमीडिएट की मिली मान्यता

कक्षाओं को कोटा की एक प्रतिष्ठित कोचिंग द्वारा संचालित किया जाएगा। ताकि बच्चों को कोटा न जाकर घर में रहते हुए ही इन सुविधाओं का लाभ मिल सके। बताते चलें कि जनपद में सेठ एम.आर जयपुरिया स्कूल अभी तक सिर्फ आठवीं तक संचालित था, लेकिन अब इंटरमीडिएट तक की मान्यता मिल जाने के बाद यह इंटरमीडिएट तक की कक्षाएं संचालित करेगा।

प्रेस वार्ता में जुड़े लोग

बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए विद्यालय की तरफ से स्कॉलर की सुविधा रखी गई है। साथ ही गरीब बच्चों को फीस में भी डिस्काउंट देने की बात कही गई। ताकि जिले में छुपी प्रतिभाएं धनाभाव में समाप्त न हों, वह आगे आए और जिले व विद्यालय का नाम रोशन करें। विद्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में जयपुरिया समूह के निर्देशक-कनक गुप्ता, असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट-बीना नायर जहां ऑनलाइन माध्यम से जुड़े वहीं फतेहपुर ब्रांच की अध्यक्ष-रंजना सिंह, एसबीएस ग्रुप के निर्देशक-शिवबली सिंह प्रत्यक्ष रूप से जुड़े।

विद्यालय की अध्यक्ष ने बताया

सेठ एम.आर जयपुरिया स्कूल-फतेहपुर की अध्यक्ष रंजना सिंह ने बताया कि अभी तक हमारा विद्यालय कक्षा 8 तक चलता था। अब हमें इंटरमीडिएट तक की मान्यता मिल गई है। अगले सत्र से हम लोग इसमें प्रवेश लेंगे। इसके साथ ही बच्चों को अच्छी सुविधा मिल सके, इसके लिए कोटा की एक कोचिंग संस्थान से जुड़कर हम लोग बच्चों को निशुल्क प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाएंगे। ताकि बच्चे घर पर रहकर ही अच्छी शिक्षा ले सकें और आगे बढ़े। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, हमने एक स्कॉलरशिप सुविधा भी शुरू की है जिसमें बच्चों का टेस्ट होगा और जो बच्चा पास करेगा उसे हम स्कॉलरशिप और लैपटॉप वगैरह फ्री में देंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button