पशुधन घोटाला मामला: निलंबित डीआईजी अरविंद सेन समेत दो को फरार घोषित करने के लिए दी गई अर्जी

पशुपालन विभाग में ठेके के नाम पर इंदौर के कारोबारी से करोड़ों रुपये ठगने के आरोपी आईपीएस अरविंद सेन समेत दो लोगों को फरार घोषित करने के लिए बुधवार को भ्रष्टाचार निवारण के विशेष न्यायाधीश संदीप गुप्ता की कोर्ट में अर्जी दी गई।

पशुपालन विभाग में ठेके के नाम पर इंदौर के कारोबारी से करोड़ों रुपये ठगने के आरोपी आईपीएस अरविंद सेन समेत दो लोगों को फरार घोषित करने के लिए बुधवार को भ्रष्टाचार निवारण के विशेष न्यायाधीश संदीप गुप्ता की कोर्ट में अर्जी दी गई।

ये भी पढ़ें – Shocking! दोस्त के साथ घिनौना काम करने के लिए अपनी पत्नी पर दबाव बना रहा था पति, फिर…

इस पर विशेष न्यायाधीश ने अपने कार्यालय को रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। मामले की विवेचक और एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव की ओर से सरकारी वकील ने 82 दंड प्रक्रिया संहिता की अर्जी देकर कोर्ट को बताया कि अरविंद सेन तथा अमित मिश्रा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने कई बार छापामारी की, लेकिन दोनों हत्थे नहीं लग रहे हैं, लिहाजा कोर्ट दोनों को फरार घोषित करने का आदेश जारी करे। विवेचक ने कोर्ट को बताया कि हाईकोर्ट से दोनों की गिरफ्तारी के संबंध में कोई आदेश उन्हें नहीं मिला है। निलंबित डीआईजी अरविंद सेन और अमित मिश्रा को कोर्ट से अनुमति मिलते ही कार्रवाई की जाएगी।

यह है मामला
दरअसल, 13 जून, 2020 को इस मामले की एफआईआर इंदौर के एक व्यापारी मंजीत सिंह भाटिया उर्फ रिंकू ने थाना हजरत गंज में दर्ज कराई थी। इस मामले में मोंटी गुर्जर, आशीष राय व उमेश मिश्रा समेत 13 अभियुक्तों को नामजद किया गया था। विवेचना में आईपीएस अधिकारी अरविंद सेन का नाम भी प्रकाश में आया। अरविंद सेन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी है। अभियुक्तों पर कुटरचित दस्तोवजों व छद्म नाम से गेहूं, आटा, शक्कर व दाल आदि की सप्लाई का ठेका दिलवाने के नाम पर नौ करोड़ 72 लाख 12 हजार रुपए की ठगी करने का इल्जाम है।

 

Related Articles

Back to top button