संभल: जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने सड़क सुरक्षा सप्ताह का किया शुभारम्भ

आज कलेक्ट्रेट सभागार बहजोई जिलाधिकारी संजीव रंजन एवं पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र ने गुरूवार से प्रारम्भ हो रहे प्रथम सड़क सुरक्षा सप्ताह के कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

आज कलेक्ट्रेट सभागार बहजोई जिलाधिकारी संजीव रंजन एवं पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र ने गुरूवार से प्रारम्भ हो रहे प्रथम सड़क सुरक्षा सप्ताह के कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। जिलाधिकारी संजीव रंजन ने परिवहन एवं यातायात विभाग की सराहना करते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा के दृष्टिगत ऐसे जागरूकता कार्यक्रम बेहद प्रभावकारी हैं और जन जागरूकता से ही दुर्घटनाओं की संख्या में कमी लायी जा सकती है।

उन्होंने आम जनता को इस बात को ध्यान रखने को कहा कि ’’जान है तो ज़हान है’’ इसलिए सभी लोग सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करें।
जिलाधिकारी महोदय ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि तेज रफ्तार से वाहन चलाने से सर्वाधिक दुर्घटनाएं होती हैं। इसको रोकने का जितना उत्तरदायित्व प्रवर्तन दलों का है, उतना ही अभिभावकों और परिवार का भी है।

उन्होंने परिवहन विभाग के तत्वावधान में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता का वृहद कार्यक्रम अपने सभी विद्यालय में आयोजित कराने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि नेशनल हाईवे पर साइन बोर्ड सही दिशा में होने चाहिए सिग्नल एवं रिफ्लेक्टर दुर्घटना वाले क्षेत्रों में रिफ्लेक्ट एवं सिग्नल अनिवार्य रूप से लगाएं ट्रैक्टर ट्राली ऊपर रिफ्लेक्टर लगाना सुनिश्चित करें।

जिससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है साथ ही अवैध वाहन वाहन की अवधि समाप्त हो गई हो और डग्गामार वाहन सीज कर दिया जाए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि दुर्घटना के समय एंबुलेंस अपनी अपनी जिम्मेदारी निभाएं एवं दुर्घटना स्थल पर समय से पहुंचना सुनिश्चित करें और ऐसे समय में डॉक्टर भी उपचार पर विशेष ध्यान दें।

पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र ने कहा कि गोल्डन ऑवर योजना के तहत एम्बुलेंस, ढाबे, पेट्रोल पंपों, स्थानीय पत्रकार, स्वयं सेवी संगठन एवं पुलिस को एक प्लेटफार्म पर व्हाट्स एप के माध्यम से घायलों की सफलता पूर्वक मदद पहुंचाई जा रही है। पुलिस अधीक्षक महोदय ने सभी क्षेत्राधिकारी यों को निर्देशित करते हुए कहा कि दोपहिया वाहनों को चेकिंग किया जाए।

दोपहिया वाहनों पर दो सवारी से अधिक ना बैठे अगर कोई पाया जाता है तो उसके खिलाफ कारवाई की जाए और उन्होंने कहा कि अनावश्यक रूप से वाहनों में हूटर लगाना एवं काले शीशे वाली गाड़ी चैक करना सुनिश्चित करें। एवं शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर कार्रवाई की जाए। संभागीय परिवहन अधिकारी के अमरीश कुमार ने कहा कि सड़क सुरक्षा के लिए कोई विभाग विशेष ही जिम्मेदार नहीं होता बल्कि इसके लिए परिवहन विभाग, पुलिस, चूक, नगर पालिका, दीप, चिकित्सा विभाग के अंतर्विभागीय समन्वय के साथ साथ आम जन के सहयोग से ही यह कार्य सफल बनाया जा सकता है। कार्यक्रम में सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी, ट्रैफिक इंस्पेक्टर टीएसआई, अनुज कुमार मलिक ने स्कूल के अध्यापक एवं अन्य मौजूद रहे।

संभल से दीपक गुप्ता की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button