सहारनपुर : सांकेतिक जिलाधिकारी राखी ने कई विभागों की 38 शिकायतों को सुना….

सहारनपुर मिशन शक्ति- ‘‘नारी सुरक्षा, नारी सम्मान, नारी स्वावलम्बन‘‘ अभियान के तहत ‘‘राष्ट्रीय बालिका दिवस‘‘ के अवसर पर सप्ताह भर चलने वाले आयोजन के तहत सांकेतिक अधिकारी ‘‘नायिका’’ के रूप में आज माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की इण्टरमीडिएट, 2020 की जनपद सहारनपुर की टाॅपर बालिका डी0सी0 जैन इण्टर काॅलेज, सरसावा की छात्रा कु0 राखी को एक दिन का सांकेतिक जिलाधिकारी, सहारनपुर नियुक्त किया गया।

सहारनपुर मिशन शक्ति- ‘‘नारी सुरक्षा, नारी सम्मान, नारी स्वावलम्बन‘‘ अभियान के तहत ‘‘राष्ट्रीय बालिका दिवस‘‘ के अवसर पर सप्ताह भर चलने वाले आयोजन के तहत सांकेतिक अधिकारी ‘‘नायिका’’ के रूप में आज माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की इण्टरमीडिएट, 2020 की जनपद सहारनपुर की टाॅपर बालिका डी0सी0 जैन इण्टर काॅलेज, सरसावा की छात्रा कु0 राखी को एक दिन का सांकेतिक जिलाधिकारी, सहारनपुर नियुक्त किया गया।

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कुमारी राखी को पुष्प देकर सम्मानित करते हुए सांकेतिक रूप से एक दिन की जिलाधिकारी का पदभार ग्रहण कराया गया। कु0 राखी द्वारा जिलाधिकारी, सहारनपुर का पदभार ग्रहण करने के पश्चात कलेक्ट्रेट सभागार में जनसुनवाई करते हुए राजस्व, गन्ना विभाग, मुख्यमंत्री आवास योजना, स्वास्थ्य विभाग, पानी की निकासी के सम्बन्ध में, विधवा पेंशन, राशन कार्ड, चकबन्दी से सम्बन्धित, मुख्यमंत्री राहत कोष से उपचार हेतु, मतृक आश्रित को सरकारी नौकरी प्राप्त करने आदि के सम्बन्ध में कुल 38 शिकायतों को सुना। कुमारी राखी ने शिकायतकर्ताओं के प्रार्थना पत्रों को निस्तारित करने क लिए सम्बन्धि अधिकारियों को निर्देशित किया। सांकेतिक जिलाधिकारी राखी द्वारा कलेक्ट्रेट में कार्मिकों का परिचय लेकर उनसे उनके द्वारा किये जाने वाले कार्यों की जानकारी की। उन्होंने सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं को जनसामान्य तक पहुँचाने के लिए उनके द्वारा क्या-क्या प्रयास किये जा रहे हैं, इस विषय में विस्तार से जानकारी हासिल की।

ये भी पढ़ें – सपा प्रमुख से मिलकर बोले धर्मगुरू- अखिलेश यादव बेदाग हैं, अपनी सरकार में उन्होंने…

एक दिन की सांकेतिक अधिकारी ‘‘नायिका‘‘ नियुक्त होने पर बालिका कुमारी राखी द्वारा हर्ष व्यक्त करते हुए बताया गया कि सरकार के इस तरह की पहल बहुत ही सरहानीय है तथा इससे महिलाओं व बालिकाओं के उत्साहवर्धन होगा तथा समाज में बालिकाओं की छवि में सकारात्मक बदलाव आयेगा, इस दौरान बालिका राखी काफी उत्साहित दिखी। इसी क्रम में मुख्य विकास अधिकारी, सहारनपुर के पद पर सांकेतिक अधिकारी ‘‘नायिका‘‘ के रूप में जे0बी0एस0 हिन्दू कन्या इण्टर कालेज, सहारनपुर की कक्षा 12 की छात्रा बालिका हर्षिका काम्बोज को नियुक्त किया गया। मुख्य विकास अधिकारी प्रणय सिंह द्वारा बालिका हर्षिका काम्बोज को पुष्प भेंट कर सांकेतिक मुख्य विकास अधिकारी, सहारनपुर का पदभार ग्रहण कराया गया। बालिका हर्षिका काम्बोज द्वारा पदभार ग्रहण करने के पश्चात विकास भवन सभागार में विकास विभाग से सम्बन्धित अधिकारियों की समीक्षा बैठक आयोजित कर जनपद में विकास सम्बन्धी कार्यों की समीक्षा की गयी। समीक्षा बैठक में जनपद में विकास सम्बन्धी सभी विभागाध्यक्षों द्वारा अपना-अपना परिचय देते हुए अपने-अपने विभाग द्वारा चलायी जा रही योजनाओं तथा उनके द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों के विषय में विस्तार से जानकारी देते हुए अपनी-अपनी विभागीय प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की गयी। सांकेतिक मुख्य विकास अधिकारी बालिका हर्षिका काम्बोज द्वारा समीक्षा बैठक के उपरान्त विकास खण्ड बलियाखेड़ी का निरीक्षण किया गया जिसमें उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी बलियाखेड़ी ज्योतिबाला से मनरेगा, मुख्यमंत्री आवास योजना, शौचालय निर्माण में प्रगति लाने तथा लाभार्थीपरक योजनाओं को जनपद के सामान्य व्यक्ति तक पहुँचाने हेतु आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिये गये।

विकासखण्ड बलियाखेड़ी के सभी कार्मिकों तथा ग्राम विकास अधिकारियों से भी योजनाओं के विषय में बातचीत की। एक दिन की सांकेतिक अधिकारी ‘‘नायिका‘‘ नियुक्त होने पर बालिका कुमारी हर्षिका काम्बोज बहुत उत्साहित दिखायी दी तथा जीवन में कड़ी मेहनत कर अपना लक्ष्य प्राप्त करने का संकल्प उन्होंने दोहराया। परियोजना निदेशक, सहारनपुर के पद पर सांकेतिक अधिकारी ‘‘नायिका‘‘ के रूप में महाराज सिंह कालेज, सहारनपुर की बी0एस0सी0 तृतीय वर्ष की छात्रा बालिका कुमारी वन्दना वर्मा को नियुक्त किया गया।

परियोजना निदेशक दुष्यन्त कुमार द्वारा पुष्प भेंट कर सांकेतिक परियोजना निदेशक, का पदभार ग्रहण कराया गया। बालिका वन्दना वर्मा द्वारा पदभार ग्रहण करने के पश्चात कार्यालय के सभी कार्मिकों का परियच प्राप्त कर उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की तथा कार्यों में प्रगति लाने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

बालिका वन्दना वर्मा द्वारा परियोजना निदेशक के पद पर सांकेतिक अधिकारी तैनात किये जाने पर सभी को धन्यवाद देते हुए इस प्रकार की गतिविधियों से बालिकाओं में आत्मनिर्भरता तथा आत्मविश्वास में वृद्धि होने की बात कही गयी तथा कड़ी मेहनत कर भारतीय सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास कर आई0ए0एस0 बनने के बारे में कहा गया।

रिपोर्ट-राहुल भारद्वाज

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button