एटा : साधु की हत्या या आत्महत्या की गुत्थी में उलझी पुलिस, मौके से मिला सुसाइड नोट

करीबी रिश्तेदारों ने जताई हत्या की आशंका जबकि पुलिस की थ्योरी बता रही है आत्महत्या

जिले के राजा का रामपुर में कनेसर गांव मार्ग पर बने शिव जी के मंदिर की है। जहां वर्षों से मंदिर पर पूजा अर्चना और देखभाल कर रहे साधू की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई। साधू का शरीर खून से लथपथ मंदिर के एक कमरे पड़ा मिला। कमरे में एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें किसी महिला का भी जिक्र किया गया है। मृतक फक्कड़ बाबा मूल रूप से शाहजहांपुर के रहने बाले थे। पिछले 20 वर्षों से ईश्वर की भक्ति में लीन रहते थे।

सुसाइड नोट में जिक्र

साथ ही मंदिर की देखभाल कर रहे थे। सुसाइड नोट के अनुसार बाबा ने जीवन मे बहुत पैसा देखने औऱ धनाड्य लोगों से संबंध होना बताया। अपने आप को बेदाग बताते हुए अपनी हिस्से की जमीन को भतीजे को दिए जाने की बात कही गई है। पास की गांव के लोगों द्वारा तंग करने जैसी बात और उनके महाविनाश जैसे शब्दों का सुसाइड नोट में जिक्र किया गया है। देर शाम साधू द्वारा गोली मारकर आत्महत्या करने की सूचना कस्बे के लोगों को मिली लोग दौड़ कर घटनास्थल पर पहुंचे।

पुलिस को सूचना की गई।सूचना मिलते ही सीओ राघवेंद्र सिंह राठौर भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे ।और बारीकी से छानबीन सुरु कर दी गई।पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट मिला है।डेड बॉडी के पास तमंचा औऱ खोखा भी मिलना पुलिस द्वारा बताया गया है।घटना की सूचना जिले के पुलिस कप्तान उदयशंकर सिंह को दी गई।कप्तान ने घटनास्थल का निरीक्षण कर बताया प्रारंभिक जांच में घटना आत्महत्या की प्रतीत होती है। गोली कनपटी पर लगी है जिसके निशान भी पाए गए हैं। घटना के हर पहलू की जांच की जा रही है।बाबा के कमरे से कुछ अभिलेख कब्जे में लिए गए है उनकी भी जांच कराई जा रही। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे उनके अनुसार आगे की कार्यवाही की जाएगी |

साक्ष्य संकलित किये

वहीं घटना स्थल पर पहुंचे बाबा के बुआ के बेटे देवेंद्र कुमार मिश्रा ने बाबा द्वारा आत्महत्या करने पर आपत्ति करते हुए हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। आरोप कनेसर गांव के ही लोगों पर लगाया गया है। उन्होंने बताया पूर्व में हुई घटना से कुछ लोग पार्टीबन्दी मानते थे इसलिए बाबा की हत्या की गई । फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है ।मौके पर फोरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड को भी बुलाया गया है। घटना स्थल से साक्ष्य संकलित किये जा चुके हैं।

देवेंद्र कुमार मिश्रा(रिश्तेदार)

उदयशंकर सिंह(वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एटा)

रिपोर्टर : विकास दुबे

Back to top button