कानपुर : पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने पुलिस प्रशासन को दिया विदेशी नागरिकों का वेरीफिकेशन करने का आदेश

जानकारी के मुताबिक जो संदिग्ध दस्तावेज पुलिस को मिले है, उनके तार असम से जुड़े हुए बताये जा रहे है। अब कानपुर पुलिस असम पुलिस से इनके वेरिफिकेशन कर वा रही है।

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कुछ दिन पहले यूपी ATS द्वारा पकड़े गए आतंकियो का कनेक्शन कानपुर से भी था। इसी को देखते हुए अब कनपुर पुलिस भी हरकत में आ गयी है। जिले की पुलिस आज कल शहर में अवैध विदेशियों की तलाश में सरगर्मी से जुटी हुई है। यही नहीं कानपुर पुलिस ने तो अब तक 100 से ज्यादा लोगों के दस्तावेज भी खंगाल चुकी है। जिनमे से पुलिस को 16 संदिग्ध दस्तावेज भी मिले है। जिसको लेकर कानपुर पुलिस जांच में जुट गयी है।

जानकारी के मुताबिक जो संदिग्ध दस्तावेज पुलिस को मिले है, उनके तार असम से जुड़े हुए बताये जा रहे है। अब कानपुर पुलिस असम पुलिस से इनके वेरिफिकेशन कर वा रही है।

विदेशी नागरिकों का वेरीफिकेशन कर रही है पुलिस

कानपुर पुलिस अब शहर की सुरक्षा को पुख्ता करने की दिशा में अवैध विदेशी नागरिकों का वेरीफिकेशन करना शुरू कर दिया है। शहर की पुलिस सड़क किनारे रहने वाले लोगों के वेरिफिकेशन की प्रक्रिया तेज कर दी है। कानपुर कमिश्नरी में आने वाले 34 थानों की पुलिस की निगाह फ़िलहाल ऐसी बस्तियों पर है जहां लोग बाहर से आकर अवैध तरीके से बस चुके हैं।

कानपुर पुलिस आयुक्त असीम अरुण द्वारा जारी किये गए है आदेश

पुलिस आयुक्त असीम अरुण द्वारा जिले की पुलिस विभाग को ये आदेश दिए गए है कि जनपद में उन स्थान को चिन्हित करें जहां अवैध विदेशी नागरिक निवास कर रहे हैं. साथ ही सभी विदेशी नागरिकों का चिन्हांकन कर उनके नाम, निवास, आधार, पासपोर्ट आदि की गहनता से जांच करें। इसके साथ ही उनके द्वारा दिखाए गये प्रमाण पत्रों की सत्यता को भी इंटरनेट व अन्य माध्यमों से जांच ले। कुछ भी संदिग्ध लगे तो तुरंत ही वैधानिक कारवाई करें।

इस पुरे आदेश के पीछे की वजह कानपुर से आतंकियों का पुराना जुड़ाव है। पहले भी शहर से ISIS और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को पकड़ा जा चुका है। त्यौहार का सीजन शुरू हो चुका है। इसी को देखते हुए पुलिस कोई भी गलती नहीं करना चाहती और सतर्कता बरत रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button