लखीमपुर खीरी : 24 घंटो में पुलिस ने इस वजह से सीज की 50 से ज्यादा बुलट

यह तस्वीर हैं जनपद लखीमपुर खीरी की जहाँ शाम ढलते ही सड़कों पर बुलट के सायलेंसरो से तेज आवाज में फोड़े जाते हैं।

यह तस्वीर हैं जनपद लखीमपुर खीरी की जहाँ शाम ढलते ही सड़कों पर बुलट के सायलेंसरो से तेज आवाज में फोड़े जाते हैं। सड़कों पर पटाखे बिगड़ैल रहीश जादो की बुलटो से निकलती हैं दहसत की गूंज। जिसको लेकर पुलिस प्रशासन ने कई टीमें गठित कर इन बिगड़ैल रहीश जादो पर नकेल कसने का काम किया हैं। इनकी धरपकड़ हर चौराहों पर होने लगी पिछले 24 घंटो में सदर कोतवाली पुलिस ने 50 से ज्यादा बुलट सीज कर कार्यवाई शुरू कर दी हैं।

यह भी पढ़ें- दिल्ली में हुई हिंसा के बाद किसान आंदोलन के भविष्य पर उठ रहे हैं सवाल, अब एक और संगठन ने समाप्त किया धरना

आपको बता दें की सदर थाना क्षेत्र में सडकों पर फर्राटा भरने वाली पटाखा बुलट चलाने वालों पर पुलिस पैनी नज़र बनाए हुए हैं, जिसके चलते सदर कोतवाली पुलिस सडकों पर गश्त के दौरान रास्तों से गुजरने वाली पटाखा बुलट चलाने वालो को रोककर उनकी बुलट में लगा साइलेंसर चेक करती है अगर साइलेंसर तेज आवाज का हुआ तो उसको या तो सीज किया जाता है या तत्काल साइलेंसर निकाल कर ओरज्नल साइलेंसर लगाने तक की छूट दी जाती है, सदर कोतवाली पुलिस ने कुछ ऐसे लोगों की पटाखा बुलट को भी पकडा जो संगठन के नाम की नेम प्लेट लगाए थे सदर थाना पुलिस ने तो नम्बर प्लेट पर पुलिस लिखी और आर्मी लिखी पटाखा बुलट को भी नहीं बाक्शा उनको भी सीज कर कोतवाली में जमा करवा दिया ऐसे करते सदर कोतवाली में अब पटाखा बुलट की संख्या करीब 50 हो गई है।

रिपोर्ट- फारूख हुसैन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button