पीएम मोदी का अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के कार्यकाल का पहला दौरा , मेजबानी का अवसर मिलने से खुश बाइडन

जो बाइडन के राष्ट्रपति बनने के बाद प्रधानमंत्री मोदी का यह पहला दौरा होगा। इससे पहले 2019 में वह अमेरिका गए थे। इसके अलावा अफगानिस्तान पर तालिबानी हुकूमत के बाद दुनियाभर में बढ़ी चिंता के बाद भी पीएम मोदी का यह दौरा विशेष होगा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस हफ्ते अमेरिका का उनका दो दिवसीय दौरा करेंगे, उनका यह दौरा काफी व्यस्त रहने वाला है। वे एक के बाद एक कई बैठकें करेंगे और वो सारी बैठक उच्च स्तरीय होंगी । पीएम मोदी 22 सितंबर को अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डीसी पहुंचेंगे और अगली सुबह वह अमेरिका के शीर्ष सीईओ से मुलाकात करेंगे।

इस दौरान वह एप्पल प्रमुख टिम कुक के साथ एक मुलाकात भी करेंगे । हालांकि, अधिकारियों ने इस बैठक की पुष्टि नहीं की और समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि कार्यक्रम अभी भी तैयार किया जा रहा है। अमेरिका के शीर्ष व्यवसायियों के साथ बैक-टू-बैक बैठकों के बाद , पीएम मोदी की अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से भी मुलाकात के कयास हैं, आपको बात दें की कमला हैरिस इस पद पर पहुंचने वाली भारतीय मूल की पहली महिला हैं। हालांकि, अभी बैठक की कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है परंतु कयासों में कोई कमी नहीं है ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसी दिन आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काट मारिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा से भी मुलाकात करेंगे। पीएम मोदी की ये अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के कार्यकाल में अमेरिका का पहला दौरा होगा। पीएम मोदी अपनी यात्रा में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ पहली द्विपक्षीय बैठक करेंगे और उसके बाद 24 सितंबर को वाशिंगटन में पहले इन-पर्सन क्वाड लीडर्स समिट में भाग लेंगे।राष्ट्रपति जो बाइडन ने व्हाइट हाउस से बयान जारी किया है जिसमें उन्होंने ये बताया कि पीएम मोदी के दौरे के दौरान उनकी मेज़बानी का अवसर मिलने पर खुशी जताई साथ ही बताया की पीएम मोदी की मेज़बानी के लिए अच्छे इंतेज़ाम किया गया है, साथ ही डिनर का भी आयोजन किया गया है।

दिलचस्प बात यह है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन की अमेरिकी यात्रा भी पीएम मोदी की वाशिंगटन यात्रा के साथ मेल खा रही है इस हिसाब से उनके भी पीएम मोदी से मिलने की संभावना है । अमेरिका में क्वाड देशों की बैठक होनी है जिसमें भारत अमेरिका के अलावा, ऑस्ट्रेलिया और जापान के प्रधानमंत्री भी शामिल होंगे ।

उम्मीद है की पीएम मोदी के अमेरिका दौरे पर तालिबान, चीन और कोरोना पर चर्चा हो सकती है । वाशिंगटन में इन-पर्सन क्वाड लीडर्स समिट में शामिल होने के बाद पीएम मोदी 24 सितंबर की शाम को राष्ट्रपति न्यूयॉर्क के लिए रवाना होंगे। न्यूयॉर्क में 25 सितंबर को वह संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में अपना भाषण देंगे। पीएम मोदी वार्षिक उच्च स्तरीय संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र का हिस्सा बनने के लिए न्यूयार्क जाएंगे। भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का एक अस्थायी सदस्य है, और इसकी एक महीने की अध्यक्षता पिछले महीने ही समाप्त हुई है।

राष्ट्रपति बाइडेन ने मार्च में क्वाड नेताओं के पहले शिखर सम्मेलन की डिजिटल तरीके से मेजबानी की थी जिसमें स्वतंत्र, उन्मुक्त, समावेशी, लोकतांत्रिक मूल्यों से जुड़े हिंद-प्रशांत क्षेत्र का संकल्प व्यक्त किया गया था जो जबरन कब्जे जैसी बाधाओं से मुक्त हो।इसे एक तरह से चीन के लिए संदेश के तौर पर देखा गया था। 2021, में जो बाइडन के अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद पीएम मोदी का ये पहला अमेरिकी दौरा होगा इससे पहले वो 2019 में सितंबर में अमेरिका के दौरे पर गए थे उस समय डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के राष्ट्रपति थे। 2019, के अपने उस अमेरिकी दौरे पर तब पीएम मोदी और तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम को संबोधित किया था। जो बाइडन के कार्यकाल में पहला दौरा होने के लेहाज़ से और इसके अलावा अफगानिस्तान पर तालिबानी हुकूमत के बाद दुनियाभर में बढ़ी चिंता के बाद, पीएम मोदी का यह दौरा काफी विशेष होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button