आजमगढ़ विधानसभा क्षेत्र के जयराजपुर में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन

शिब्ली एकेडमी के वरिष्ठ स्कॉलर उमैद नदवी ने कहा कि लोगों ने फूलों से नहीं आंसुओं से नमन किया। कहा कि उन्होंने ने अपनी अलग पहचान बनाई तो वह मुहब्बत व सेवा से थी।

Assembly constituency: आजमगढ़ के गोपालपुर विधानसभा क्षेत्र के जयराजपुर में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर समाजवादी नेता पूर्व मंत्री वसीम अहमद को नमन किया गया। इस दौरान लोगों ने वसीम अहमद के राजनीतिक सामाजिक जीवन को याद करे हुए उन्हें सभी समाज के लोगों को साथ लेकर चलने वाला बताया।

पूर्व मंत्री के साथ पलों को याद करते हुए भावुक भी हो गए

अपने कार्य के प्रति समर्पित व लोगों के हक के लिए हमेशा आगे रहने वाला व रिश्तों को निभाने वाला बताया। खास बात थी कि श्रद्धांजलि सभा में सभी दलों, वर्गों के लोग शामिल हुए और पूर्व मंत्री के साथ पलों को याद करते हुए भावुक भी हो गए।

ये भी पढ़ें – रिक्शा चालक की बेटी ने मिस इंडिया प्रतियोगिता मे रनर-अप का गौरव हासिल किया

शिब्ली एकेडमी के वरिष्ठ स्कॉलर उमैद नदवी ने कहा कि लोगों ने फूलों से नहीं आंसुओं से नमन किया। कहा कि उन्होंने ने अपनी अलग पहचान बनाई तो वह मुहब्बत व सेवा से थी।

बिलरियागंज गोपालपुर क्षेत्र में बहुत काम किया था लेकिन सबसे बड़ा काम किया कि लोगों के दिलों में जगह बनाई थी। इसीलिए जो लोग भी यहां आ रहे हैं वह केवल श्रद्धांजलि की रस्म अदायगी नहीं कर रहे बल्कि आंखों में आसुओं से याद कर रहे।

विधायक मंत्री होने के बाद भी इमानदारी की मिसाल थे और पूरे आजमगढ़ का नाम इस खासियत के लिए लिया जाता रहा कि ऐसे भी नेता हैं जिन्होंने अपने घर को जैसा था वैसे ही रहने दिया।

अनिस अहमद ने कहा कि करीब 44 वर्षों का साथ रहा

दूसरों का घर बनवाया। ये आज के नेतागण खासकर युवा तो राजनीति को व्यापार समझ लेते हैं उनके लिए सीख है। पूर्व मंत्री के बचपन के मित्र अनिस अहमद ने कहा कि करीब 44 वर्षों का साथ रहा।

वसीम भाई एक स्पोर्ट्सपर्सन थे वह इत्तेफाक से राजनीति में आए और फिर पूरी ईमानदारी से जुड़े रहे। कभी रिश्तों को नहीं तोड़ा। वसीम भाई गोरखपुर यूनिवर्सिटी से MA करने के बाद BHU से बीपीएड किए। वह वालीबॉल के राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button