रात को सोने से पहले कभी न देखे आईना, वरना शादीशुदा जिंदगी में….

हर सुबह ज़िंदगी की एक नई शुरुआत लेकर आती है जंहा हम अपने जीवन में हुई पुरानी बाते भूलकर एक नए दिन की शुरुआत करते है।

हर सुबह ज़िंदगी की एक नई शुरुआत लेकर आती है जंहा हम अपने जीवन में हुई पुरानी बाते भूलकर एक नए दिन की शुरुआत करते है। नई सुबह के दिन हम सभी कामों को लेकर बहुत उत्साहित रहते है लेकिन सुबह-सुबह ही हमें कुछ बुरा सुनने और देखने को मिल जाता है तो हमारा मन निराश हो जाता है और सोचने लग जाते है कि न जाने आज हमारे साथ क्या होने वाला है।आज हम आपको बताने जा रहे हैं वे 5 काम, जो आपको सोने से पहले भूलकर भी नहीं करने चाहिए। ताकि अगला दिन आपका अच्छा रहे।

ये भी पढ़ें – पति था मानसिक रोगी, पांच सौ रूपये उधार लेकर शुरू किया काम और आज हैं करोड़ों की मालकिन

ज्ञान और शक्ति रूपा माता गायत्री के मंत्र का जप समस्‍त प्राणियों के लिए कल्‍याणकारी बताया गया है, लेकिन इसके लिए नियत समय, नियम और मर्यादा का पालन करना जरूरी होता है। गायत्री मंत्र जपने का सर्वथा उपयुक्‍त समय सुबह सूर्योदय से पहले और संध्‍याकाल में होता है। रात को सोने से पहले कभी भी गायत्री मंत्र का जप नहीं करना चाहिए।

रात को सोने से पहले पितरों का ध्‍यान करने को भी शास्‍त्रों में मना किया गया है। पितरों के वंदन का समय दोपहर माना गया है। पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए शाम के वक्‍त गोधूलि बेला में दक्षिण और पश्चिम दिशा में एक दीया जलाकर रखें या फिर कोई बल्‍ब भी जला सकते हैं।

रात को सोने से पहले आपको आइना नहीं देखना चाहिए। इसे वास्‍तु के लिहाज से भी अच्‍छा नहीं माना जाता है। ऐसी मान्‍यता है रात को सोने से पहले आइना देखकर सोने से डरावने सपने आते हैं।

भगवान शिव को विरक्ति और वैराग्‍य का प्रतीक माना जाता है इसलिए सोने से पहले भगवान शिव का चेहरा नहीं देखना चाहिए। ऐसा करने से आपके दांपत्‍य जीवन में अलगाव पैदा हो सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button