मुज़फ्फरनगर : दलित महिलाओं को इंसाफ ना मिलने पर पुलिस के खिलाफ पंचायत

उत्तर प्रदेश में भले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए मिशन शक्ति जैसे कोई भी कार्यक्रम चला ले मगर नतीजा जीरो ही मिलेगा।

उत्तर प्रदेश में भले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए मिशन शक्ति जैसे कोई भी कार्यक्रम चला ले मगर नतीजा जीरो ही मिलेगा। जब तक प्रदेश से भ्रष्टाचार समाप्त नहीं होगा तब तक गरीबों को इंसाफ मिलना मुश्किल है।

ये भी पढ़ें- आने वाले वर्ष में माफियाओं के खिलाफ कठोर कार्यावाही की जाएगी :प्रशान्त कुमार, अपर पुलिस महानिदेश

ऐसा ही एक मामला जनपद मुज़फ्फरनगर में सामने आया है, जिसमें खेत मे चारा लेने गयी 2 दलित के साथ दबंगो ने पहले तो खेत मे खींचकर दुष्कर्म का प्रयास किया गया और पीड़ित महिलाओं द्वारा शोर मचाने पर उन्हें फावड़े से काट कर घायल कर दिया था, जिसमें दोनों महिलाओं की हालत गंभीर है। मुजफ्फरनगर के बाद मेरठ में रेफर किया गया है जहां उनका इलाज जारी है। पीड़ित महिलाओं को इंसाफ न मिलने की वजह से आज गांव में दलितों की पंचायत की गई।

जिसमें निर्णय लिया गया कि अगर थाना स्तर पर पुलिस उनकी कोई मदद नहीं करती तो आला अधिकारियों के दरवाजे खटखटाएंगे। आरोप है कि सभी आरोपी गांव में खुले घूम रहे हैं। मगर पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है। पंचायत में निर्णय लिया गया कि अगर 2 दिन में थाना पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करती तो 2 दिन के बाद में दिन बाद दलित समाज के लोग पुलिस अधीक्षक के कार्यलय पर देंगे।

धरना मामला थाना ककरौली क्षेत्र के गांव चोरावाला का है, जंहा रविवार की दोपहर गांव के ही 5 लोगों ने दलित समाज की दो महिलाओं के साथ अश्लीलता करते हुए उनके साथ मारपीट कर धारदार हथियार से गंभीर रूप से घायल कर दिया था। जो कि अब मेरठ के निजी अस्पताल में मौत और जिंदगी से जूझ रही जिस पर पीड़ित परिवार के अशोक कुमार ने आरोपियों के विरुद्ध थाने में तहरीर देकर कार्यवाही की मांग की थी। जिस पर पुलिस द्वारा पीड़ित की तहरीर के आधार पर गम्भीर धाराओं में 147, 148, 149, 323, 307, 376, 511, 354 ख 504, 506 व एससी एसटी के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया गया था, लेकिन पीड़ित परिवार का कहना है कि आरोपी गांव में खुलेआम घूम रहे हैं लेकिन पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है ग्राम ककरौली में दलित समाज के लोगो द्वारा एक पंचायत का आयोजन किया गया जिसमें प्रवीण कुमार रामबीर बाबू राहुल राजेंद्र सावन कैलाश बबलू जोगिंदर रोहित रूपराम धीर सिंह किरण पाल करवा विजयपाल ओम सिंह मांगे ओम प्रकाश चौहन कुसुम रेवती वीरमति सोहन विधि शकुंतला विधा आरती ज्योति राकेश सुनीता माया संतो आदि सैकड़ों महिला व पुरुषों ने पंचायत में भाग लिया जिसमें उन्होंने कहा है कि पुलिस ने आरोपियों से सांठगांठ कर ली है और आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर रही है वहीं पंचायत ने कहा कि अगर आरोपियों की दो दिन में गिरफ्तारी नहीं होती तो दो जनवरी को दलित समाज पुलिस अधीक्षक के ऑफिस पर जाकर धरना प्रदर्शन करेगा जिससे पीड़ित को न्याय मिल सके।

Report- Monu Singh

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button