हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी दी जानी चाहिए – पीसी कुरील

राष्ट्रीय भागीदारी आंदोलन के राष्ट्रीय संयोजक पी सी कुरील ने एक बयान में कहा कि अभी कुछ महीने पहले

राष्ट्रीय भागीदारी आंदोलन के राष्ट्रीय संयोजक पी सी कुरील ने एक बयान में कहा कि अभी कुछ महीने पहले ही निर्भया के हत्यारों को फांसी की सजा सुनकर बदमाशों को यह सबक दिया गया कि अगर कोई फिर ऐसा अपराध करता है, तो उसे भी इसी तरह से बदतर बना दिया जाएगा। लेकिन प्रशासन के ढुलमुल रवैये के कारण हाथरस में भी एक बहुत ही गंभीर घटना घटी जहाँ एक सरकारी अस्पताल में भर्ती दलित बेटी मनीषा की दुखद मृत्यु हो गई।

उन्होंने इस पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि मनीषा के अपराधियों के साथ उसी तरह से व्यवहार किया जाए जैसा कि निर्भया के दोषियों को सार्वजनिक रूप से फांसी पर लटका दिया गया था। इसके अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है क्योंकि जैसे-जैसे समय बीतता जाएगा घाव भरता जाएगा और फिर न्याय की आवाज हल्की हो जाएगी, इसलिए यह आवश्यक है कि हाथरस की मनीषा जो कि एक दलित बेटी है, पर अत्याधिक अत्याचार किया गया है।

आरोपी को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाकर उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। दलित बेटी की कई दिनों तक रेप की कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई। परिवार के सदस्यों की अनुमति के बिना रात में ही उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। ऐसा लगता है कि आरोपी को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। यह सही नहीं है। जो दोषी हैं उन्हें कड़ी सजा दी जानी चाहिए ताकि भविष्य में कोई ऐसा करने की हिम्मत न कर सके। “उन्होंने कहा कि कुछ लोग दोषियों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं, जैसे कि पूरी घटना को छुपाने का प्रयास किया जा रहा हैं, यह नहीं होना चाहिए, और घटना के बाद परिवार के सदस्यों के साथ जो किया गया वो भी बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button