मुरादाबाद: कोरोना टीका लगने के अगले दिन स्वास्थ्यकर्मी की हुई मौत, पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए 16 जनवरी से पूरे देश में कोविड वैक्सीनेशन अभियान (Covid Vaccination Campaign) शुरू हो गया है।

कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए 16 जनवरी से पूरे देश में कोविड वैक्सीनेशन अभियान (Covid Vaccination Campaign) शुरू हो गया है। इसी क्रम में देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी कोरोना के टीकाकरण अभियान की शुरूआत हुई। इसी दौरान प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) जिले में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया, जहां रविवार को कोरोना वैक्सीन (Vaccine) लगाने के करीब 30 घंटे बाद एक स्वास्थ्यकर्मी की संदिग्ध मौत हो गई। इस घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। मृतक स्वास्थ्यकर्मी के परिवार ने आरोप लगाया कि कोरोना का टीका लगने से उनकी जान गई है।

वहीं, इस घटना के बाद मुरादाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी एससी गर्ग का कहना है कि महिपाल को सीने में जकड़न और सांस लेने में दिक्कत थी। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद यह बात सामने आई कि स्वास्थ्यकर्मी महिपाल सिंह की मौत हार्ट अटैक से हुई थी।

16 जनवरी को लगा कोरोना का टीका

दरअसल, मुरादाबाद जिला अस्पताल के 46 वर्षीय वॉर्ड ब्वॉय महिपाल सिंह को 16 जनवरी को कोरोना का टीका (Vaccine) लगाया गया था। टीका लगने के बाद उनकी तबीयत खराब हो गई और वह घर चले गए थे। इसके बाद रविवार को तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और अस्पताल पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- IND Vs AUS: जानें, आखिर क्यों सिर्फ 23 रन बनाकर भी दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए ऋषभ पंत ?

इसके बाद परिवार ने आरोप लगाया था कि टीका (Vaccine) लगाने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद महिपाल को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्होंने दम तोड़ दिया।

शनिवार को लगभग 12 बजे दी गई थी कोविशिल्ड वैक्सीन

वहीं, वार्ड बॉय की मौत के बाद अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) ने बताया था कि ‘वार्ड बॉय महिपाल को शनिवार को लगभग 12 बजे कोविशिल्ड वैक्सीन (Covishield) दी गई थी। एक दिन बाद रविवार को उसके सीने में दर्द के साथ सांस फूलने की समस्या हुई।’ उन्होंने कहा कि ‘टीका (Vaccine) लगने के बाद वार्ड बॉय ने नाइट शिफ्ट में काम किया था और हमें नहीं लगता कि टीका के किसी भी दुष्प्रभाव के कारण मौत हुई है।’

यह भी पढ़ें- IND Vs AUS: रिकी पोंटिंग ने शार्दुल ठाकुर और सुंदर को लेकर कही बड़ी बात, जज्बा…

महिपाल के बेटे विशाल ने बताया था कि ‘कोरोना का टीका (Vaccine) लगने के बाद मेरे पिता अच्छा महसूस नहीं कर रहे थे। उन्होंने घर वापस आने के लिए दोपहर में मुझे अस्पताल बुलाया और कहा कि ऑटो लेकर आना, क्योंकि वह बाइक नहीं चला सकते हैं। मैं दोपहर 1.30 बजे अस्पताल पहुंचा तो मुझे लगा कि उनको हल्का बुखार था और सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। रविवार को उनकी हालत ज्यादा खराब हो गई और उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मुझे लगता है कि टीकाकरण के साइड इफेक्ट के कारण उनकी मौत हुई है।’

वहीं, महिपाल के एक और रिश्तेदार ने भी कहा कि उनकी कोरोना का टीका (Vaccine) लगाने से ही मौत हुई है। पहले हालत इतनी खराब नहीं थी और वैक्सीन लगाने से पहले कोई मेडिकल जांच भी नहीं की गई थी।

Related Articles

Back to top button