युवाओं को प्रेरित करने के लिए ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में नेताजी की जयंती मनाएगी मोदी सरकार

भारत (INDIA) के महान स्वतंत्रता सेनानी और आजाद हिंद फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की 125वीं जयंती से पहले केंद्र सरकार (central government) ने मंगलवार को बड़ा ऐलान किया है।

भारत (INDIA) के महान स्वतंत्रता सेनानी और आजाद हिंद फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की 125वीं जयंती से पहले केंद्र सरकार (central government) ने मंगलवार को बड़ा ऐलान किया है। सरकार ने अब हर साल 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है। इसकी जानकारी केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने दी है।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की 125वीं जयंती को केंद्र सरकार ने अब और भी ज्यादा भव्य रूप में मनाने की घोषणा की है। इससे पहले महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी की 125वीं जयंती को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की वीरता सर्वविदित है। नेताजी जैसे स्कॉलर, सोल्जर और स्टेट्समैन की 125वीं जयंती से जुड़े कार्यक्रमों की घोषणा हम जल्द करेंगे।

यह भी पढ़ें- बड़ी खबर: कोरोना वैक्सीन लगने के अगले दिन ही डॉक्टर को हुआ कोरोना, पत्नी…

केंद्र सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की 125वीं जयंती मनाने के लिए गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। इस कमेटी में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों के साथ पक्ष-विपक्ष के वरिष्ठ नेताओं और नेताजी के परिवार के सदस्यों समेत 85 सदस्यों को शामिल किया गया है।

वहीं, संस्कृति मंत्रालय की ओर से जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि ‘नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की अदम्य भावना और राष्ट्र के प्रति उनकी निस्वार्थ सेवा और सम्मान को याद रखने के लिए, भारत सरकार ने देशवासियों, विशेष रूप से युवाओं को प्रेरित करने के लिए उनके 23 जनवरी को आने वाले जन्मदिवस को हर साल पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। नेताजी ने विषम परिस्थितियों का सामना करते हुए देशवासियों में देशभक्ति की भावना जगाई।’

यह भी पढ़ें- संतकबीरनगर: हैसर ब्लॉक प्रमुख ने ग्राम प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्यों को किया सम्मानित

अधिसूचना के मुताबिक, यह समिति अगले साल 23 जनवरी से एक वर्ष तक 125वीं जयंती के वर्ष में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों व समारोहों की रूपरेखा तय करेगी।

जानकारी के मुताबिक, कार्यक्रमों का आयोजन सालभर किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेताजीसुभाष चंद्र बोस(Subhash Chandra Bose) के 125वें जयंती समारोहों की शुरुआत 23 जनवरी को कोलकाता के ऐतिहासिक विक्टोरिया मेमोरियल हॉल से करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button