लापरवाही से लबरेज हैं बिजनौर में कई फैक्ट्रियां, कभी भी हो सकती है दुर्घटना

बिजनौर की कई ऐसी फैक्ट्रियां हैं जो लापरवाही से लबरेज होते हुए भी लेबर अधिकारी से लेकर फैक्ट्री मालिक तक अनदेखी करते हैं।

बिजनौर की कई ऐसी फैक्ट्रियां हैं जो लापरवाही से लबरेज होते हुए भी लेबर अधिकारी से लेकर फैक्ट्री मालिक तक अनदेखी करते हैं। जिसकी वजह से हर साल कई फैक्ट्रियों में आए दिन हादसे होते रहते हैं।

कुछ वर्कर दम तोड़ देते हैं तो कुछ जीते जी दुसरो के मोहताज हो जाते हैं मजबूरी में मृतक के परिवार वाले फैक्ट्री मालिकों से मौत का सौदा करने पर आमादा हो जाते हैं, जिसकी वजह से कानूनी पकड़ के बाद भी लापरवाह फैक्ट्री कर्मचारी व मालिक का कुछ भी नहीं बिगड़ता। देखिए बिजनौर से खास रिपोर्ट।

बिजनौर से महज 5 किलोमीटर नगीना रोड पर मौजूद ये है देव रबड़ फैक्ट्री जो पिछले कई सालों से वाहनों के टायर ट्यूब बनाने का काम करती है कई कर्मचारी फैक्ट्री में काम करते हैं फैक्ट्री की लापरवाही व पुराने उपकरण होने की वजह से फैक्ट्री में आए दिन गरीब मजदूरों के साथ हादसे होते रहते हैं।

साल 2018 में नगीना रोड पर मोहित पेट्रो केमिकल फैक्ट्री के टैंक में गैस वेल्डिंग करने के दौरान टैंक फटने से 6 वर्करों की जान चली गई थी उस हादसे में भी फैक्ट्री मालिक ने मौत का सौदा करके अपनी जान बचा ली थी दूसरी घटना 18 जून 21 सुबह 5:00 बजे डीआरएफ के नेचुरल रिक्लेम रबर प्लांट के बॉयलर स्टीम टैंक में तीन मजदूर काम कर रहे थे कि अचानक टैंक के लीक होने से बॉयलर स्टीम से 3 वर्कर बुरी तरह झुलस गए थे।

एक मजदूर ने 19 जून को दम तोड़ दिया था जबकि दो गंभीर रूप से झुलसे मजदूरों को प्रशासन ने दिल्ली के अस्पताल में भर्ती करा दिया था कल शाम दूसरे मजदूर सुरेश ने दम तोड़ दिया जबकि तीसरा गंभीर रूप से जख्मी है दिल्ली अस्पताल में भर्ती है।

मीडिया की सुर्खियां बनी खबर के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस प्रशासन को फैक्ट्री मालिक के साथ सख्त कार्यवाही करते हुए गरीब परिवार को आर्थिक मदद व इलाज करने के आदेश दिए थे हालांकि पुलिस ने फैक्ट्रर मालिक सहित दो के खिलाफ संगीन धाराओं में केस दर्ज किया था लेकिन कई दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने फैक्ट्री मालिकों की गिरफ्तारी नहीं की है फैक्ट्री मालिक ने मृतक के परिवार वालों से मौत का सौदा कर लिया है।

पहली मौत पर 11 लाख का सौदा हुआ जबकि दूसरी मौत पर 13 लाख का सौदा हो चुका है ऐसे ही फैक्ट्री मालिक मौत का सौदा करते रहेंगे तो फिर भला भोले भाले परिवार वालों के मासूम बच्चे अपने पिता को किसे पिता कहेंगे।

रिपोर्ट:-फैसल खान बिजनौर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button