आजमगढ़ : पात्रों को नहीं मिला आवास, बारिश में भीगने को लोग मजबूर

लोगों का आरोप है कि जो भी लोग अपात्र हैं उन्हें ग्राम सचिव द्वारा मकान दे दिया गया तथा जो लोग इसके जरूरी पात्र हैं। उन्हें अभी तक छत नहीं नसीब हुई। उन्हें अपात्र लोगों की सूची में डाल दिया गया।

एक तरफ जहां केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार सबको छत देने का वादा कर रही है वहीं धरातल पर हालात कुछ और ही बयां कर रहे हैं। सरकारी योजना के अंतर्गत मिलने वाले आवास को लेकर तमाम आरोप हैं, की आजमगढ़ के अतरौलिया क्षेत्र के भरसानी गांव में आवास की आस लिए कुछ पीड़ित परिवार बारिश में भीगने को विवश हैं।

लोगों का आरोप है कि जो भी लोग अपात्र हैं उन्हें ग्राम सचिव द्वारा मकान दे दिया गया तथा जो लोग इसके जरूरी पात्र हैं। उन्हें अभी तक छत नहीं नसीब हुई। उन्हें अपात्र लोगों की सूची में डाल दिया गया। ग्राम सचिव जयचंद द्वारा गांव के पात्र लोगों को अभी तक आवास नहीं उपलब्ध कराया गया।

जबकि पीड़िता शांति देवी तथा कबूतरी देवी का आरोप है कि ग्राम सचिव जयचंद द्वारा कई बार फोटो व जरूरी कागज लिए गए लेकिन अभी तक आवास के नाम पर कुछ भी नसीब नहीं हुआ।

बल्कि लोगों को बार-बार ब्लॉक मुख्यालय तथा तहसील मुख्यालय तक दौड़ाया जाता है। वहीं कुछ लोगों ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि ग्राम सचिव द्वारा जो लोग उन्हें कुछ पैसे अलग से दे देते हैं उन्हीं लोगों को आवास उपलब्ध कराया जाता है।

वही जो लोग पैसे देने में असमर्थ हैं उन्हें बार-बार दौड़ाने के बाद भी अपात्र की सूची में डाल दिया जाता है। अधिकारी दावा करते रहते हैं कि जो भी लोग अपात्र हैं उन्हें किसी भी हाल में आवास नहीं मिलेगा केवल पात्र लोगों को ही आवास दिया जाएगा। अगर इसमें अनियमितता पाई गई तो संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्टर – अमन गुप्ता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button