लखनऊ: एलडीए से जमीन खरीद कर मकान बनाने की कर रहे हैं तैयारी तो…..सावधान

प्राधिकरण के तहसीलदार राजेश शुक्‍ल की ओर से ये मुकदमा दर्ज करवाया गया है। एलडीए के सिस्‍टम की देखरेख करने वाली कंपनी डीजी टेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के खिलाफ ये मुकदमा दर्ज करवाया गया है।

आप घर में बैठे हुए हैं और सोच रहे हैं कि जो भूखंड आपने एलडीए (LDA) से खरीदा है वह पूरी तरह से सुरक्षित है भविष्‍य में आप उस पर अपना मकान बनवाएंगे तो सावधान हो जाइए। एलडीए के पूरे कंप्‍यूटर सिस्‍टम के भीतर हैकरों ने सेंधमारी की है। जिसके जरिये अरबों रुपए के 400 भूखंड की हेराफेरी हो चुकी है। ऐसे ही एक मामले में एलडीए ने मुकदमा दर्ज करवाया है।

प्राधिकरण के तहसीलदार राजेश शुक्‍ल की ओर से ये मुकदमा दर्ज करवाया गया है। एलडीए (LDA) के सिस्‍टम की देखरेख करने वाली कंपनी डीजी टेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के खिलाफ ये मुकदमा दर्ज करवाया गया है।

ये भी पढ़े – बिजनौर: घर में खाना खाते वक्त अचानक रहस्यमय ढंग से लापता हुई युवती

पासवर्ड हैक कर के डिजिटल डेटा में हेराफेरी की

कंपनी के सीईओ अजीत मित्‍तल व सर्विस इंजीनियर दीपक मिश्र के खिलाफ ये केस दर्ज किया गया है. इन पर आरोप है कि इन लोगों ने कर्मचारियों के पासवर्ड हैक कर के डिजिटल डेटा में हेराफेरी की. जिससे प्राधिकरण को करोड़ों रुपए की हानि हुई है।

एलडीए के अफसर और कर्मचारियों की मिलीगभत

ये पूरी जांच संयुक्‍त सचिव ऋतु सुहास ने की है। जिसमें सामने आया है कि कम से कम 500 भूखंड जो कि गोमती नगर, ट्रांसपोर्ट नगर, जानकीपुरम, कानपुर रोड योजना में इन भूखंडों का खेल साल 2018 के से शुरू किया गया है।

जो कि अक्‍टूबर 2020 तक जारी रहा। लॉकडाउन में जब दफ्तर बंद थे तब भी ये खेल हुआ है. इसमें प्राधिकरण के कर्मचारी और अधिकारियों के मिले होने की आशंका है। इन लोगों ने कंप्‍यूटर पर आवंटियों के नाम बदल दिए और फाइलें गायब कर दीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button