लखनऊ : संजय निषाद के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर गिरफ्तारी की मांग

टाइम्स नाउ के स्टिंग ऑपरेशन में निषाद पार्टी का असली चेहरा उजागर-लौटनराम निषाद

निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने कहा है कि वीआईपी प्रमुख सन ऑफ मल्लाह मुकेश साहनी को मार कर भगा देंगे,गाड़ी में आग लगवा देंगे,2,4 को जलवाकर मरवा देंगे। उसने कहा है कि हम तो थाना भी फूँकवा देते हैं। हमसे बड़ा गुंडा कौन है। चुनाव जीतने जीतवाने के लिए थाना फूँकवा देंगे। विकासशील इंसान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चौ.लौटनराम निषाद ने कहा कि सम्मानित न्यूज़ चैनल टाइम्स नाउ के स्टिंग ऑपरेशन में निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद का असली चेहरा उजागर हो गया है।

29 जून को भी इसने मीराबाई गेस्ट हाउस में कुछ लोगों से कहा था कि राजनीति के लिए मैं 10,5 की हत्या कराने से भी पीछे नहीं हटूँगा। मुकेश सहनी को यूपी आने की क्या जरूरत थी, हम उत्तर प्रदेश में सहनी को राजनीति नहीं करने देंगे, इसके लिए हम कुछ भी करा सकते हैं। संजय निषाद निषाद समाज का बदनुमा धब्बा है। जिसने झूठा सपना दिखाकर समाज के युवाओं व महिलाओं का आर्थिक,शारीरिक शोषण किया है।उन्होंने प्रमुख सचिव गृह,पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश से स्वतः संज्ञान लेकर एफआईआर पंजीकृत कर गिरफ्तार कराने की मांग किया है।ऐसे अवांछनीय तत्व समाज के लिए कलंक हैं।

निषाद ने बताया कि टाइम्स नाउ का स्टिंग ऑपरेशन पूरी तरह सच है।संजय कहता रहा है कि राजनीति में चमकने व चर्चा में आने के लिए 10,5 की हत्या भी करनी करानी पड़ती है।संजय अपनी काडर मीटिंग में कहता था कि मैं कांशीराम जी को आदर्श मानता हूँ।मान्यवर कांशीराम जी कहते थे कि जितनी हत्या व उत्पीड़न दलितों की होगी,उतना ही बसपा का जनाधार बढ़ेगा। 7 जून,2015 को गोरखपुर के सहजनवां के पास कसरवल के निषाद आरक्षण आंदोलन में इटावा जनपद के दिलीप नगर मड़ैया के आत्माराम निषाद का पुत्र अखिलेश निषाद गोली लगने से मर गया।

उन्होंने कहा कि अखिलेश की मौत पुलिस की गोली से नहीं बल्कि किसी आरक्षण आंदोलनकारी की गोली से हुई।संजय निषाद चर्चा में आने के लिए 10 युवकों को मरवाने की योजना बनवाया था।अखिलेश की हत्या संजय ने पूर्व नियोजित तरीके से अपने ही आदमी से करवाया था।उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार व शासन से कसरवल में अखिलेश निषाद की मौत की सीबीआई जांच कराने की मांग किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button