कानपुर: सुस्त पुलिस बेख़ौफ़ अपराधी, खुलेआम बेच रहे ड्रग्स

मादक पदार्थ के माफियाओं का सफाया करने वाली कानपुर पुलिस को उस वक्त झटका लगा जब उसकी नजर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे एक वीडियो पर नजर पड़ी

कानपुर: मादक पदार्थ के माफियाओं का सफाया करने वाली कानपुर पुलिस को उस वक्त झटका लगा जब उसकी नजर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे एक वीडियो पर नजर पड़ी, जिसमें एक युवक अपनी स्कूटर पर बैठकर बिना किसी खौफ से स्मैक बेच रहा है लेकिन पुलिस को कोई खबर तक नही। वीडियो की पड़ताल की गई तो वह थाना चमनगंज क्षेत्र का निकला जिसपर एसपी वेस्ट डॉक्टर अनिल कुमार ने सीओ व इस्पेक्टर को निर्देशित करते हुए वीडियो में दिखने वाले युवक को गिरफ्तार करने को कहा है।

आपको बता तें चलें कि अंतराष्ट्रीय अपराध जगत में कानपुर के नाम भी अंडरवर्ड से जुड़ा हुआ था, जिसमे ड्रग्स का कारोबार भी शामिल था और अंडरवर्ड से ताल्लुक रखने वाले जावेद रिंग वाला से लेकर डी 2 गैंग समेत कई बड़े बदमाशों के गैंग्स ने मादक कारोबार किया लेकिन पुलिस की सख्ती और वक्त के रहते गैंग्स कमजोर हो गए तो किसी की हत्या और किसी का एनकाउंटर कर दिया गया।

लेकिन ड्रग्स कारोबार ने अपनी रफ्तार न बन्द की और फिर मनोज सोनकर फिर सोनकर ब्रदर्स गैंग ने इस कारोबार को जिंदा रखा जिसमे चयनित जगहों में सबसे पहले नाम आता है अनवरगंज थाने का जहां पुलिस रिकार्ड में दर्ज है कि यहां थाने की वगल वाली गली में खुलेआम स्मैक चरस और हीरोइन बिका करती थी। इसी तरह चमनगंज, रेलबाजार, फीलखाना, मूलगंज, बादशाही नाका, कलेक्टर गंज, बाबू पुरवा, किदवई नगर, बर्रा, कल्यानपुर थाना क्षेत्र ऐसे हैं जहां इस कारोबार को बड़े स्तर पर अंजाम दिया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button