प्रशासन की लापरवाही के चलते फिर जिंदा हुआ माफिया मुन्ना बजरंगी!, मचा हड़कंप

देश के महान विभूतियों, स्मारकों व धरोहरों के नाम पर डाक टिकट छापने वाले डाक विभाग की घोर लापरवाही सामने आई है।

देश के महान विभूतियों, स्मारकों व धरोहरों के नाम पर डाक टिकट छापने वाले डाक विभाग (Postal Department) की घोर लापरवाही सामने आई है। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में ‘माई स्टैंप’ योजना में व्यवस्था में खामी का बड़ा मामला देखा गया है। डाक विभाग ने कानपुर में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन और कुख्यात गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी के नाम पर डाक टिकट जारी कर दिये हैं। खबर सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

आपको बता दें कि अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन और कुख्यात गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी के नाम पर डाक टिकट किसी आम डाकघर से नहीं, बल्कि प्रधान डाकघर से जारी हुए हैं। डाकघर से जारी टिकटों में पांच रुपए वाले 12 डाक टिकट अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के और 12 टिकट मुन्ना बजरंगी के हैं। डाक विभाग (Postal Department) को इसके लिए निर्धारित 600 रुपए फीस अदा की गई।

यह भी पढ़ें : उन्नाव : फूस की झोपड़ी और तिरपाल तानकर रह रहे गरीब तबके के लोग, नहीं मिले प्रधानमंत्री आवास

हैरानी की बात यह है कि इस योजना के तहत किसी भी अधिकारी ने फोटो की जांच पड़ताल करने की जहमत तक नहीं उठाई। टिकट छापने से पहले न फोटो की पड़ताल की गई और न किसी तरह का प्रमाणपत्र मांगा गया। इस योजना की पोल खुलने के बाद मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं। फिलहाल, प्रशासन इस मामले की जांच में जुट गया है।

दरअसल, इस योजना के तहत कोई भी आम आदमी अपनी फोटो डाक टिकट पर छपवा सकता है। इस योजना के तहत महज 300 रुपये का मामूली शुल्क जमा करके आप अपनी तस्वीरों वाले 12 डाक टिकट जारी करवा सकते हैं। ये डाक टिकट अन्य डाक टिकटों की तरह मान्य होंगे।

यह भी पढ़ें : दारोगा मांग रहा था पच्चीस हजार की ‘रिश्वत’ और फिर हुई ये बड़ी कार्रवाई

इतना ही नहीं, इन टिकटों के माध्यम से आप देश के किसी कोने में पोस्ट भी भेज सकते हैं। इसके लिए आपको अपने शहर के पोस्ट ऑफिस में संपर्क करना होगा। इसके लिए शर्त है कि फोटो वाली डाक टिकट सिर्फ जीवित व्यक्ति का ही जारी होता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button