रात में सोने से पहले बस कर लें ये काम, कभी नहीं होगी सेहत सम्बंधित दिक्कतें

हम अपने चेहरे, बाल और शरीर के अन्‍य हिस्‍सों की खूब देखभाल करते हैं, लेकिन जब बात पैरों की आती है, तो आमतौर पर हम उसकी केयर करना भूल जाते हैं।

health: हम अपने चेहरे, बाल और शरीर के अन्‍य हिस्‍सों की खूब देखभाल करते हैं, लेकिन जब बात पैरों की आती है, तो आमतौर पर हम उसकी केयर करना भूल जाते हैं। आपके पैर दिनभर धूल-मिट्टी और अन्‍य विषाक्त पदार्थों को इकट्ठा करते हैं, इसलिए उन्‍हें भी विशेष ध्‍यान देने की आवश्‍यकता होती है।

यदि आपको लगता है कि आपके पास पैर की देखभाल के लिए दिन के दौरान पर्याप्त समय नहीं है, तो रात का समय आपके लिए सबसे अच्‍छा है। सोने से पहले पैरों पर तेल लगाने से इससे जुड़े फायदों की एक लंबी सूची है। आप नारियल, तिल, लैवेंडर और यहां तक कि बादाम का तेल भी लगा सकते हैं और रातभर चैन की नींद सो सकते हैं। यहां जानें पैरों की मालिश कैसे की जानी चाहिए और ऐसा करने के क्‍या-क्‍या फायदे हो सकते हैं…

feet

क्या है सही तरीका पैरों की मालिश का

सोने से पहले अपने पैरों को साबुन से अच्छी तरीके से धोएं।
अब बिस्तर पर बैठ जाए और अपनी टांगे आगे पसार लें।
अब कुछ बूंदे तेल की लेकर अपने पैरों को एक-एक करके मालिश करें।
कड़े हाथ से मालिश करें और और अपने तलवे पंजों के बीच में और सामने की तरफ तेल लगाएं।
हर पंजे को कोमलता से दबाए और पैर को लंबाई में थपकी दें।
अधिक प्रभाव के लिए कम से कम 5 से 10 मिनट तक मालिश करना जारी रखें।
डीप रिलैक्सेशन के लिए गर्म तेल का इस्तेमाल करने का ध्यान रखें।
अगर आपको लगता है कि आपके पैर बहुत ही तैलीय हो गए हैं तो एक पुरानी तौलिया को अपने पैरों पर धीरे से थपथपाएं।
ध्यान रखें कि आप तेल को पूरी तरह से ना पोंछें और जो थोड़ा बहुत फालतू तेल है उसे ही पोछें। सुधारे रक्त प्रवाह हमारे दिन का एक बड़ा हिस्सा बैठे रहने में चला जाता है और हम कभी कभार ही घूमते फिरते हैं। अपने पैरों को सेहतमंद रखने के लिए आपको पूरे दिन में पैरों की मालिश के लिए केवल 5 मिनट ही निकालने हैं । सोने से बिल्कुल पहले अपने पैरों की अपने मनपसंद तेल से हल्की-हल्की मालिश करें ।अगर आपको अपनी चादर गंदा होने की चिंता है, तो अपने पैरों के नीचे एक पुराना तौलिया बिछाएं।

तेल मालिश सूजन को भी घटाती है और रिलैक्स करती है। पैरों के किसी भी तरह के खिंचाव और दर्द को भी रिलैक्स करती है। पैरों की मालिश करते हुए अपने टखने पर विशेष ध्यान दें। इसे मालिश करने से आपके पैर की तनी हुई मांसपेशियां रिलैक्स हो जाती है और साथ ही साथ आपका पूरा शरीर भी एक अच्छी बेहतर नींद के लिए रिलैक्स हो जाता है।

यह प्रमाणित है कि अपने पैरों को गर्म जैतून के तेल या नारियल के तेल से मालिश करने से फुट टेंडनाइटिस से आई सूजन में राहत पहुंचती है।

सोने से पहले एक अच्छी तेल मालिश रिलैक्स करने में बहुत ही मदद करती है। यह आपकी टेंशन को दूर कर देती है और आप की नाड़ियों को शांत कर देती है। आपके पैरों में बहुत सारे एक्यूपंक्चर पॉइंट होते हैं जो कि नींद लाने में मदद करते हैं। जब आप अपने पूरे पैरों की मालिश करते हैं तो आप इन एक्युपंचर प्वाइंट्स को भी एक्टिवेट कर देते हैं। इससे ब्लड सरकुलेशन बढ़ जाता है और आप की नाडियां भी शांत हो जाती हैं, जिससे एक अच्छी नींद आनी तो तय है।

पीएमएस के लक्षणों से सामान्यतः मूड स्विंग्स, पेट फूलना, अनिद्रा, जी मिचलाना और पेट में दर्द होता है। पैरों की मालिश इन लक्षणों को कंट्रोल करने में बहुत ही लाभदायक साबित हुई है। आप अपने पैरों की मालिश लैवंडर के तेल से कर सकते हैं, जिसकी मीठी खुशबू और भी आराम और राहत पहुंचाती है।

पैर का पिछला हिस्सा जहां पर आप का अंगूठा पैर से जोड़ता है एक बहुत ही अच्छा प्रेशर पॉइंट है। इसकी किसी भी गर्म तेल से अच्छे से मालिश करें।

पूरे पैर की मालिश करते वक्त 5 मिनट तक इस बिंदु पर एक्स्ट्रा प्रेशर डालें। तेल मालिश ब्लड प्रेशर कम करने में भी मददगार है और रेस्टलेस लेग सिंड्रोम का भी समाधान है ।आप इस आदत को जरूर अपनाएं और अपने पैरों को थोड़ी सी ज्यादा केयर दें जिससे वह स्वस्थ और साफ बने रहें।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button