गर्भवती महिलाओं को कोरोना वैक्सीन लगाने को लेकर बड़ी खबर, भारत बायोटेक ने कहा…

कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए 16 जनवरी से पूरे देश में कोविड वैक्सीनेशन अभियान (Covid Vaccination Campaign) शुरू हो गया है

कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए 16 जनवरी से पूरे देश में कोविड वैक्सीनेशन अभियान (Covid Vaccination Campaign) शुरू हो गया है। इसी को देखते हुए इस महामारी से निपटने के लिए वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) बनाने वाली कंपनी भारता बायोटेक कोविड टीके को लेकर लोगों को चेतावनी दी है। 

भारत बायोटेक कंपनी ने एक फैक्टशीट जारी कर बताया है कि किन लोगों को ‘कोवैक्सीन’ नहीं लगवानी चाहिए। कंपनी ने लोगों को आगह करते हुए कहा कि अगर किसी की इम्यूनिटी कमजोर है या पहले से कोई गंभीर बीमारी की दवाएं ले रहे हैं, तो ऐसे लोग कोविड कोवैक्सीन न लगवाएं।

बता दें कि ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) की ओर से भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है, लेकिन इसके बावजूद कुछ लोग इसकी सुरक्षा प्रभावशीलता और डेटा पर पारदर्शिता को लेकर सवाल उठाते रहे हैं।

यह भी पढ़ें- बड़ी खबर: कोरोना वैक्सीन लगने के अगले दिन ही डॉक्टर को हुआ कोरोना, पत्नी…

ये लोग न लगवाएं ये वैक्सीन…

सोमवार को भारत बायोटेक ने फैक्टशीट जारी कर ऐसे लोगों को कोवैक्सीन (Covaxin) का टीका न लगवाने की सलाह दी है, जिन्हें कुछ समय से बुखार, एलर्जी, ब्लीडिंग डिसऑर्डर की शिकायत रही हो, साथ ही जिनकी इम्यूनिटी कम है या किसी प्रकार की कोई दवाई ले रहे हैं या फिर जिसका प्रतिरक्षा प्रणाली पर असर हो सकता है।

फैक्टशीट में भारत बायोटेक ने यह भी सुझाव दिया है कि अगर कोवैक्सीन (Covaxin) का टीका लेने के बाद किसी में कोरोना से संक्रमित होने के लक्षण दिखाई देते हैं, तो उसे आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा।

यह भी पढ़ें- संतकबीरनगर: हैसर ब्लॉक प्रमुख ने ग्राम प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्यों को किया सम्मानित

गर्भवती महिलाओं के लिए कोवैक्सीन का टीका वर्जित

कंपनी की वेबसाइट के एक बयान के मुताबिक, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी कोवैक्सीन (Covaxin) का टीका वर्जित है। साथ ही जिन्होंने दूसरी वैक्सीन ली है, या फिर किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, वे भी कोवैक्सीन का टीका न लगवाएं।

आपको बता दें कि इसके पहले सरकार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया था कि जिन मरीजों में इम्यूनिटी कम है, उनको भी कोविड टीका लग सकता है। हालांकि, वैक्सीन के ट्रायल के दौरान ऐसे लोगों पर असर अपेक्षाकृत कम देखा गया है।

यह भी पढ़ें- युवाओं को प्रेरित करने के लिए ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में नेताजी की जयंती मनाएगी मोदी सरकार

वैक्सीन के साइड इफेक्ट की संभावना बेहद कम

वैक्सीन की संभावित प्रतिकूल घटनाओं और वैक्सीन के लिए योग्य लोगों का विवरण देते हुए भारत बायोटेक ने यह फैक्टशीट जारी की है। इस फैक्टशीट में कहा गया है कि इसकी बहुत ही कम संभावना है कि कोवैक्सीन (Covaxin) का टीका लगने के बाद सांस लेने में कठिनाई, चेहरे/गले की सूजन/ तेजी से दिल धड़कना, पूरे शरीर में चकत्ते और कमजोरी सहित एलर्जी की गंभीर प्रतिक्रिया पैदा हो सकती हैं।

फैक्टशीट के माध्यम से भारत बायोटेक ने कहा है कि अगर कोवैक्सीन लेने के कुछ घंटों में आपको कोई साइड इफेक्ट दिखाई पडे़ या कोरोना के लक्षण दिखें तो इसकी जानकारी तुरंत वैक्सीन लगाने वाले को दें। साथ ही वैक्सीन लेने के पहले और बाद में अगर आपने किसी वजह से कोई दवा ली हो, तो उसकी भी सही और साफ जानकारी दें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button