वर्क फ्रॉम की वजह से बड़े और महंगे मकानों की मांग में देखने को मिली बढ़ोतरी

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए शुरू वर्क फ्रॉम होम कल्चर ने बड़े और महंगे मकानों की मांग बढ़ा दी है। जुलाई-सितंबर तिमाही में देश के सात प्रमुख शहरों में बिके कुल मकानों में 40 लाख से 80 लाख रुपये कीमत के मकानों की हिस्सेदारी बढ़कर 41 फीसदी पहुंच गई। 80 लाख से 1.5 करोड़ रुपये कीमत के मकानों की हिस्सेदारी 25 फीसदी रही।

इस दौरान कुल बिक्री में किफायती मकानों की मांग घटकर 24 फीसदी रह गई। एनारॉक समूह के चेयरमैन अनुज पुरी का कहना है कि वर्क फ्रॉम होम कल्चर की वजह से लोगों में बड़े और महंगे मकानों की मांग बढ़ी है। देश के सात प्रमुख शहरों में सितंबर तिमाही में मकानों की बिक्री सालाना आधार पर दोगुना बढ़कर 60,000 इकाई पहुंच गई।

इस दौरान नए लॉन्च में सालाना आधार पर 90 फीसदी तक तेजी रही। संपत्ति सलाहकार कंपनियों का कहना है कि टीकाकरण अभियान में तेजी, वित्तीय, आईटी एवं आईटीईएस क्षेत्रों में भर्तियां बढ़ने और होम लोन की ब्याज दरें ऐतिहासिक रूप से निचले स्तर पर आने की वजह से देशभर में मकानों की मांग बढ़ी है।

संपत्ति सलाहकार नाइटफ्रैंक का कहना है कि छह-सात साल तक कीमतों में लगातार गिरावट के बाद दाम धीरे-धीरे बढ़ने लगे हैं। हालांकि, मांग में तेजी के अनुरूप कीमतें नहीं बढ़ रही हैं। इसके बावजूद अगले चार-पांच वर्षों में देशभर में मकान की कीमतों में वर्तमान स्तर के मुकाबले 1.3-1.4 गुना इजाफा देखने को मिल सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button