अगर आप भी हैं डायबिटीज के रोगी तो जरूर जान लें ये बातें वरना ….

डायबिटीज होने का मतलब है कि आपको अपने खाने या पीने की हर चीज के बारे में पता होना चाहिए। खासकर डायबिटीज के लिए ड्रिंक्स के सेवन का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है।

डायबिटीज (Diabetes) होने का मतलब है कि आपको अपने खाने या पीने की हर चीज के बारे में पता होना चाहिए। खासकर डायबिटीज के लिए ड्रिंक्स के सेवन का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। आपको बता होना चाहिए कि डायबिटीज रोगियों के लिए सबसे खराब ड्रिंक्स कौन सी हैं, जिनमें कार्बोहाइड्रेट और शुगर की मात्रा ज्यादा होती है और वे आपके रक्त शर्करा को कैसे प्रभावित कर सकते हैं। डायबिटीज में शून्य-कैलोरी या कम-कैलोरी ड्रिंक की सिफारिश की जाती है। 

डायबिटीज़ यानी मधुमेह से ग्रसित लोगों के लिए है फल का सेवन करना भोजन के बेहतरीन विकल्पों में से एक है, जो लो-कैलोरी और कोलेस्ट्रॉल रहित होने के साथ ही विटामिन और फ़ाइबर से भरपूर होते हैं।

लेकिन आप तब क्या करेंगे जब आपके पास इसे साफ़ करने, छीलने, बीज निकालने और काटने का वक़्त ना हो? ऐसे में हो सकता है कि आप फ़्रूट जूस पीने में रूचि लें. क्योंकि जूस बना बनाया सीधे हांथों में आता है, जिसे आप आसानी से पी सकते हैं। साबुत फलों के मुक़ाबले ज़्यादातर जूस में ढेर सारे कार्बोहाइड्रेट्स और कैलोरीज़ पाए जाते हैं। कई बार इसे बनाने में फ्रुक्टोस जैसे स्वीटनर्स का इस्तेमाल किया जाता है, जो आपके ब्लड ग्लूकोज़ लेवल को बढ़ाने की अहम वजह होते हैं.(1) कई फ़्रूट जूस के पैकेट 100% प्राकृतिक जूस होने का दावा करते हुए बाहरी तौर पर किसी भी अतिरिक्त मिलावट से इंकार करते हैं, पर ख़रीदने से पहले, उसमें कौन सी चीजें शामिल हैं, शक्कर, कार्बोहाइड्रेट्स और कॉर्न सिरप मिलाए गए हैं या नहीं, आप इन बातों की जांच ज़रूर कर लें।

 Diabetes

दूध डायबिटीज के रोगी का वजन कम करता है

दूध डायबिटीज के मरीजों के लिए भी लाभदायक है। कम फैट के डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करने से डायबिटीज और ब्लड प्रेशर में कमी आती है। दूध डायबिटीज के रोगी का वजन कम करता है और शारीरिक संतुलन को बनाए रखता है। दूध का उपयोग ब्लड प्रेशर को कंट्रोल भी करता है।

ये भी पढ़ें – अचानक चलते-चलते गायब हो गयी ये महिला, हैरान रह गए लोग

ग्रीन टी डायबिटीज के रोग के लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी पेय पदार्थ है। इसमें कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो किसी भी तरह के संक्रमण से बचाते हैं जो कि हृदय और टाइप 2 डायबिटीज के लिए बहुत लाभदायक है।

 Diabetes

केरेले का जूस ना केवल ग्लूकोज की मात्रा पर कंट्रोल करता है बल्कि

करेले का जूस डायबिटीज के दोनों प्रकारों टाइप-1 डायबीटीज तथा टाइप- २ डायबीटीज के लिए बहुत लाभदायक है। यह यूरिन और ब्लड में शुगर को कंट्रोल करता है। केरेले का जूस ना केवल ग्लूकोज की मात्रा पर कंट्रोल करता है बल्कि यह पेट की कई बीमारियों के लिए लाभदायक है।

ये भी पढ़ें – पिता या हैवान, अपनी सात साल की मासूम बेटी सहित कई लोगों के साथ किया कुछ ऐसा और फिर …

नारियल पानी में खून में शुगर लेवल को कम करने में बहुत प्रभावी है

नारियल पानी में भरपूर मात्रा में विटामिन, मिनरल्स और एमिनो एसिड जैसे जैसे तत्व पाए जाते हैं। नारियल में पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन सी, सोडियम और मैग्नीज जैसे खनिज तत्व पाए जाते हैं। नारियल खून में शुगर लेवल को कम करने में बहुत प्रभावी है। डायबिटीज के लिए यह एक अच्छा हेल्दी ड्रिंक है।

 Diabetes

खीरा गर्मी, संक्रमण, सूजन कम करने और अर्थराइटिस में भी लाभदायक

खीरे में भरपूर मात्रा में कैल्शियम आयरन फास्फोरस विटामिन ए, बी1, विटामिन सी और एमिनो एसिड पाया जाता है। खीरे का जूस खून में शुगर की मात्रा को कम करता है। खीरा गर्मी, संक्रमण, सूजन कम करने और अर्थराइटिस में भी लाभदायक है।

कैमोमाइल टी टाइप 2 डायबिटीज में ग्लाइसेमिक कंट्रोल करने में सहायक

कैमोमाइल टी में बहुत ज्यादा मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और जीरो लेवल कैलोरी होती है। यह डायबिटीज के लिए बहुत लाभदायक है। कैमोमाइल टी टाइप 2 डायबिटीज में ग्लाइसेमिक कंट्रोल करने में सहायक है। इसका नियमित सेवन खून में शुगर लेवल को कम करता है। किडनी की बीमारियों और अंधेपन को भी दूर करता है।

बहुत सारे फल और सब्जियां शुगर फ्री होती हैं। जब भी इन्हें अपने भोजन का हिस्सा बनाएं तो यह जांच लें कि आप का फल या सब्जी शुगर फ्री है या नहीं। हरी पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, शलजम, गाजर के जूस को आप डायबिटीज में पी सकते हैं। फलों में आपको सेब और बेरीज का सेवन करना चाहिए।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button