बड़ी खबर: राहुल गांधी के पीएम बनने को लेकर कांग्रेस के कद्दावर नेता हरीश रावत ने किया ये बड़ा ऐलान…

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने को लेकर उत्तराखंड के पूर्व सीएम और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने बड़ा ऐलान किया है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने को लेकर उत्तराखंड के पूर्व सीएम और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि, 2024 में राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के बाद वो राजनीति से सन्यास ले लेंगे. हरीश रावत सोशल साइट फेसबुक पर एक लेख साझा करते हुए ये बात लिखी है. इस लेख में उन्होंने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा है.

हरीश रावत ने राजनीति से संन्यास लेने का ऐलान करते हुए अपने विरोधियों पर जमकर हमला बोला है. उन्होंने लिखा है कि, महाभारत के युद्ध में जब अर्जुन को घाव लगते थे तो वो बहुत रोमांचित होते थे ठीक उसी तरह से मैने भी राजनीतिक जीवन के शुरूआती दौर से कई हारें झेली हैं और घाव लगे लेकिन मैने राजनीति नहीं छोड़ी और ही राजनीति के प्रति मेरी निष्ठा बदली न रण छोड़ा.

मैं आभारी हूं उन बच्चों का जिनके माध्यम से मेरी चुनावी हारें गिनाई जा रही हैं इनमें से कुछ योद्धा जो आरएसएस की क्लास से सीखे हुए हुनर, मुझपर आजमा रहे हैं. वो उस समय जन्म ले रहे थे, जब मैं पहली हार झेलने के बाद फिर से युद्ध के लिए कमर कस रहा था, कुछ पुराने चकल्लस बाज हैं जो कभी चुनाव ही नहीं लड़े हैं औऱ जिनके वार्ड से कभी कांग्रेस जीती ही नहीं, वो मुझे यह याद दिला रहे हैं कि, मेरे नेतृत्व में कांग्रेस 70 की विधानसभा में 11 पर क्यों आ गई. ऐसे लोगों ने जितनी बार मेरी चुनावी हारों की संख्या गिनाई है उतनी बार अपने पूर्वजों का नाम नहीं लिया है, मगर यहां भी वो चुक कर गए हैं.

यह भी पढ़ें- नेता जी के जन्मदिन पर अरुण यादव के नेतृत्व में ‘माननीय मुलायम सिंह यादव जी किसान रैली’ का आयोजन

हरीश रावत ने आगे अपनी पोस्ट में लिखा है कि, चुनावी हारों का अंकगणित शास्त्रियों को अपने गुरूजनों से पूछना चाहिए कि, उन्होंने अपने जीवनकाल में कितनों को लड़ाया और उनमें से कितने जीते? यदि अंकगणितीय खेल में उलझे रहने के बजाय आगे की ओर देखो तो समाधान निकलता दिखता है. उन्होंने कहा आगे लिखा है कि, श्री त्रिवेंद्र सरकार के एक काबिल मंत्री जी ने जिन्हें मैं राजनीतिक आका के दुराग्रह के कारण अपना साथी नहीं बना सका, उनकी सीख मुझे अच्छी लग रही है.

मैं सन्यांस लूंगा, अवश्य लूंगा

मैं सन्यांस लूंगा, अवश्य लूंगा लेकिन 2024 में देश में राहुल गांधी जी के नेतृत्व में संवैधानिक लोकतंत्रवादी शक्तियों की विजय और श्री राहुल गांधी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद ही ये संभव हो पाएगा, तबतक मेरे शुभचिंतक मेरे संन्यास के लिए प्रतिक्षारत रहें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button