चारा लेने गई किशोरी का मिला अर्द्धनग्न शव, ग्रामीणों ने दरिंदगी की जताई आशंका, बवाल में इंस्पेक्टर घायल

वे अपराधियों के नाम उजागर होने तक शव नहीं ले जाने देने की जिद पर अड़ गए। इस दौरान पुलिस की गाड़ियों के आगे आग जलाकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया और ईंट-पत्थर भी फेंके।

अलीगढ़ के थाना अकराबाद क्षेत्र के एक गांव में अपनी ननिहाल में रह रही 16 वर्षीय दलित किशोरी (teenager girl) की हत्या कर शव गेहूं के खेत में फेंक दिया गया। इस वारदात को रविवार दोपहर उस समय अंजाम दिया गया।

जब वह अपने खेत पर चारा लेने गई थी। उसके साथ दुष्कर्म का भी अंदेशा जताया जा रहा है। देर शाम उसका शव मिलने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए।

रात करीब साढ़े दस बजे पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए…

वे अपराधियों के नाम उजागर होने तक शव नहीं ले जाने देने की जिद पर अड़ गए। इस दौरान पुलिस की गाड़ियों के आगे आग जलाकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया और ईंट-पत्थर भी फेंके। ईंट लगने से गंगीरी कोतवाल प्रमेंद्र सिंह का सिर फट गया। ग्रामीणों को काफी समझाने के बाद रात करीब साढ़े दस बजे पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जा सकी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद अलीगढ़ के थाना अकराबाद क्षेत्र के एक गांव की अनुसूचित जाति की बुजुर्ग विधवा अकेली रहती थी। उसने 11 साल पहले अलीगढ़ शहर में रहने वाली अपनी पांच साल की धेवती को अपने पास रख लिया था।

ये भी पढ़ें- चेहरे पर शिकन नहीं, बल्कि स्माइल करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने लगवाया टीका, खूब वायरल हो रही हैं फोटोज

तब से वह नानी के पास ही रहती थी और उन्हें ही मम्मी कहती थी। वृद्धा के अनुसार रविवार दोपहर करीब बारह बजे किशोरी अपने खेतों से चारा लेने गई थी। जब वह काफी देर तक नहीं लौटी तो दोपहर करीब ढाई बजे वह उसे देखने पहुंची, लेकिन किशोरी (teenager girl)  नहीं मिली।

अंदेशा व्यक्त किया जा रहा है कि…

जब कोई सुराग नहीं मिला तो उसने गांव से कुछ लोगों को बुलवा लिया। देर शाम तक किशोरी की तेज खोजबीन होने लगी। इसी बीच देर शाम करीब छह बजे किशोरी (teenager girl)   का अर्द्धनग्न शव अपने खेत से करीब 500 मीटर दूर एक गेहूं के खेत में पड़ा मिला। देखने से लग रहा था कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई है। अंदेशा व्यक्त किया जा रहा है कि पहचाने जाने के भय से दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने हत्या कर दी।

पुलिस की गाड़ियों के आगे आग लगा दी और…

इस सूचना पर इलाका पुलिस के साथ-साथ एसएसपी मुनिराज जी, फॉरेंसिक टीम व अन्य अधिकारी भी पहुंच गए। तब तक वहां काफी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो चुके थे। पुलिस ने जब शव उठाने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने यह कहते हुए छीन लिया कि पहले पुलिस यह खुलासा करे कि क्या हुआ था और किसने यह वारदात की। इसके बाद ही शव उठेगा। इस पर किसी तरह एसएसपी ने समझाकर शव उठवाकर गाड़ी में रखवा लिया तो ग्रामीणों ने पुआल, करब आदि डालकर पुलिस की गाड़ियों के आगे आग लगा दी और रास्ता रोक दिया।

इस दौरान पुलिस व ग्रामीणों के बीच नोकझोंक होने लगी। इस पर पुलिस पर कुछ ग्रामीणों ने ईंट-पत्थर भी फेंक दिए। इस घटना में इंस्पेक्टर गंगीरी प्रमेंद्र कुमार जख्मी हुए हैं। देर रात किसी तरह पुलिस पोस्टमार्टम के लिए शव ले जाने में सफल हुई। मौके पर फॉरेंसिक टीम व डॉग स्क्वॉयड जांच में जुटी थी।

अकराबाद क्षेत्र में दोपहर से लापता किशोरी का शव खेत में मिला है। उसकी हत्या की गई है। हालांकि दुष्कर्म का अंदेशा भी है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, जो तथ्य सामने आएंगे, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। परिवार से तहरीर लेकर मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। फॉरेंसिक टीम की मदद से साक्ष्यों का संकलन कराया जा रहा है।

 रिपोर्ट- ख़ालिक़ अंसारी

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button