हैवान ने पार की सारी हदें पड़ोस के घर में घुस कर दस वर्षीय मासूम नाबालिक बच्ची से किया बलात्कार और फिर ….

बच्ची की गुहार की आवाज सुनकर उसकी बहन और मां दौड़कर जब वहां पहुंची तो आरोपी गयादीन उन दोनों को धक्का देकर भाग गया और जाते-जाते वो जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गया। 

खबर सुल्तानपुर से है जहाँ आज शनिवार को थाना लंभुआ कोतवाली क्षेत्र के ग्राम जियनपुर पोस्ट मकसूदन के रहने वाले गयाप्रसाद उर्फ़ गयादीन निषाद सुत धन्जु निषाद ने अपने ही पड़ोस में रहनेवाली दस वर्षीय मासूम अबोध बच्ची को उस वक्त अपनी हवस (rape) का शिकार बना लिया। 

जब वो अकेले घर में बैठकर टीवी देख रही थी हमारी टीम ने जब इसकी पड़ताल शुरू की तो सबसे पहले हमारी मुलाकात उस अबोध लड़की की माँ और उसकी बहन से हुई तो उन्होंने बताया कि जब उनकी दस वर्षीय बेटी टी वी देख रही थी तो बगल के ही युवक गयाप्रसाद उर्फ़ गयादीन ने घर में अकेली पाकर उनकी बच्ची का मुँह दबाकर अपनी हवस का शिकार बना लिया। जैसे-तैसे बच्ची ने उस दरिंदे के चंगुल से खुद को छुड़ाया और मदद के लिए गुहार लगाई।

बच्ची की गुहार की आवाज सुनकर उसकी बहन और मां दौड़कर जब वहां पहुंची तो आरोपी गयादीन उन दोनों को धक्का देकर भाग गया और जाते-जाते वो जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गया।

ये भी पढ़ें – गाजीपुर: गायब हुआ था चार साल का ‘मासूम’ फिर अचानक मोबाइल की बजी घंटी तो उड़ गए होश

उधर खून से लथपथ बच्ची को परिजन तत्काल पीएचसी लेकर पहुंचे। लेकिन अत्याधिक खून बहने के चलते चिकित्सकों ने रेप पीड़िता को जिला महिला अस्पताल रेफर कर दिया। अब बच्ची का ईलाज जिला महिला अस्पताल में चल रहा है और उनकी बिटिया जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही है।

बताते चलें कि जब इस बाबत हमारी बात लेबर रूम में कार्यरत रीता सिंह से हुई तो उन्होंने पहले तो कुछ भी बताने से मना कर दिया लेकिन जब हमने उनसे इस बाबत जानकारी ली कि किस वज़ह से उस10 वर्षीय लड़की को यहाँ लेबर रूम में लाकर रखा गया है तो उन्होंने घूमा फिरा कर जवाब देना शुरू किया।

फ़र्ज से मुँह मोड़ते हुए ग़ैर जिम्मेदाराना रुख अख्तियार किया जो…

पुलिस का हवाला देते हुए कुछ भी समुचित कार्य ना करने और पुलिस की चिठ्ठी नही आई है का हवाला देते हुए अन्तोगत्वा बलात्कार की बात कही और अपने फ़र्ज से मुँह मोड़ते हुए ग़ैर जिम्मेदाराना रुख अख्तियार किया जोकि वीडियो में स्पष्ट है जब हमारी उस अबोध बच्ची से बात हुई तो उसने गयादीन का नाम लिया और जबरदस्ती की बात कही!

ही दूसरी तरफ जब हमने इस बाबत सी एम एस से जाकर उनसे पूछा कि आखिर किस वजह से लड़की की हालत इस तरह हुई और उसका किस तरह से प्राथमिक उपचार किया जा रहा है और उस बच्ची को क्या हुआ है तो उनकी जुबान से लड़खड़ाते हुए इधर उधर की बात निकली और उन्होंने भी गैरजिम्मेदाराना तरीके से अपनी बात कही और अपने फ़र्ज से मुँह मोड़ते हुये दिखे जैसा कि आप विडियो में देख सकते हैं !

ये भी पढ़ें – महोबा: घर में घुसकर दलित विधवा महिला के साथ गाँव के युवक ने कर डाला ‘घिनौना काम’

बताते चलें कि खून से लथपथ बच्ची को परिजन जिला अस्पताल तो लेकर पहुँच गए लेकिन लचर व्यवस्था के चलते जिला अस्पताल में उस बच्ची का ईलाज ढंग से नही चल रहा है अत्याधिक खून बह जाने के चलते चिकित्सकों ने बताया कि अत्यधिक रक्तस्रव होने के कारण बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है और बच्ची का रक्त स्राव रूक नही रहा, दवा इलाज जारी है।

वहीं परिजनों की ओर से स्थानीय कोतवाली पर नामजद तहरीर दी गई, जिस पर पुलिस ने रेप और पाक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया और देर शाम जिला अस्पताल सी ओ लम्भुआ और लम्भुआ कोतवाली प्रभारी उस अबोध बच्ची का हाल चाल लेने पहुंचे और रेप पीड़ित बच्ची से बात करनी चाही और परिवार को सान्त्वना दिया कि उस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है और कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी जब हमने बात करने का प्रयास किया तो कैमरे पर कुछ भी कहने से अभी इनकार किया!

सुल्तानपुर से सन्तोष पाण्डेय की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button