पुराने एलपीजी सिलिंडर्स को जाएं भूल, कंपनी दे रही फाइबर ग्लास वाला कम्पोजिट सिलिंडर, जाने क्या है बदलाव

अगर आप फाइबर से बना सिलिंडर पाना चाहते है तो आपको एजेंसी जाकर 10 किलो सिलिंडर के लिए 3350 रुपये और 5 किलो सिलिंडर के लिए 2150 रुपये जमाकर कन्नेक्शन लेना होगा।

पुराने सिलिंडर्स के वजन से अगर आप परेशान है तो ये आपके लिए है , इंडियन आयल कंपनी अपने ग्राहकों को सुविधा देने के लिए एक नए तरह के एलपीजी सिलिंडर्स बाजार में उतरने जा रही है। जिसका नाम कंपनी ने कॉम्पजिट सिलेंडर रखा है. और ये सिलिंडर पहले के सिलिंडर से बहुत अलग है और इसके कई फायदे भी है।

यह सिलेंडर तीन स्तरों में बना है। इसके अंदर सबसे पहले हाई डेंसिटी पॉलीथिन की एक परत होगी। यह भीतरी परत पॉलिमर फाइबरग्लास से बनी है। इसकी बाहरी परत भी एचडीपीई से बनी है। यानी ये सिलेंडर बेहद सुरक्षा के साथ बनाए गए हैं। अब इस्तेमाल किया जाने वाला एलपीजी कम्पोजिट सिलेंडर स्टील का बना होता है।
यह भारी भी होता है जबकि मिश्रित सिलेंडर ज्यादा हल्का होता है। इस सिलेंडर की और भी कई खूबियां हैं जो नीचे दी गई हैं। यह वजन में बेहद हल्का है। इसका वजन स्टील के सिलेंडर से आधा होता है।

क्या है फायदे –

इस सिलिंडर की सबसे खास बात ये है की ये ट्रांसपेरेंट है यानि आप गैस के अंदर तक भी देख सकते है। इसमें आप आसानी से देख सकते हैं कि कितनी गैस बची है। यानी ग्राहक गैस की मात्रा को देखकर अपनी अगली रिफिल की योजना बना सकेंगे। कंपोजिट सिलेंडर पर कोई कबाड़ नहीं है और सबसे खास बात यह है कि इस सिलेंडर में कोई नुकसान नहीं होता है। खरोंच न होने से आपका सिलेंडर सुरक्षित हो जाता है। इस सिलेंडर को आधुनिक किचन के हिसाब से डिजाइन किया गया है।

यहां मिलेगा सिलेंडर –

कम्पोजिट सिलेंडर अब देश भर के 28 शहरों में उपलब्ध हैं। इनमें अहमदाबाद, अजमेर, इलाहाबाद, बेंगलुरु, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, कोयंबटूर, दार्जिलिंग, दिल्ली, फरीदाबाद, गुरुग्राम, हैदराबाद, जयपुर, जालंधर, जमशेदपुर, लुधियाना, मैसूर, पटना, रायपुर, रांची, संगरूर, तल्लूर, सूरत शामिल हैं। तुमकुर, वाराणसी और विशाखापत्तनम। कम्पोजिट सिलेंडर का वजन 5 और 10 किलो है। इस सिलेंडर की आपूर्ति जल्द ही देश के अन्य शहरों में की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button