पंजाब: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के विरोध में किसानों का फूटा गुस्सा, बठिंडा में BJP नेताओं के फाड़े पोस्टर और पोती कालिख

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर देशभर के किसान दो महीनों से भी अधिक दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। कृषि कानूनों को रद्द करने की मांगों पर अड़े किसानों...

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर देशभर के किसान दो महीनों से भी अधिक दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। कृषि कानूनों को रद्द करने की मांगों पर अड़े किसानों (Farmers) और सरकार के बीच गतिरोध जारी है। वहीं, पंजाब में किसान आंदोलन के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का विरोध जारी है।

कृषि बिलों के विरोध में मंगलवार को फिरोजपुर में बीजेपी के प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा का किसानों (Farmers) ने घेराव किया। वहीं, बठिंडा में बीजेपी नेताओं के पोस्टर फाड़ने और उन पर कालिख पोतने का भी मामला सामने आया है।

ये भी पढ़ें- सपा प्रमुख अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, समाजवादी सरकार बनने पर बड़े पैमाने पर नौकरियों में की जाएगी भर्ती

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को पंजाब बीजेपी अध्यक्ष अश्वनी शर्मा अपने कार्यकर्ताओं के साथ फिरोजपुर स्थित एक पैलेस में मीटिंग करने पहुंचे थे। जैसे ही किसानों को अश्वनी शर्मा की पहुंचने की खबर मिली तो किसानों (Farmers) ने उनका घेराव किया और पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेडिंग तोड़कर किसान उनकी गाड़ी तक जा पहुंचे। इस मौके पर मौजूद बीजेपी के पूर्व विधायक सुखपाल सिंह नन्नू की पगड़ी उतारने का भी प्रयास किया गया।

हालांकि, किसान नेता हरनेक सिंह ने कहा कि किसानों (Farmers) ने अश्वनी शर्मा की गाड़ी पर हमला नहीं किया। अश्वनी शर्मा की गाड़ी पर हमला करने को लेकर कहा कि शरारती तत्वों का काम है।

ये भी पढ़ें-  …तो इसलिए सदन में फूट-फूट कर रोने लगे प्रधानमंत्री मोदी, देखें वीडियों

वहीं, पुलिस के मुताबिक, अश्वनी शर्मा की गाड़ी पर कोई हमला नहीं हुआ। इस दौरान हंगामे को बढ़ते हुए देखकर पुलिस ने हल्का लाठीचार्ज किया और प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ दिया। वहीं, इसके विरोध में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने डीसी दफ्तर के पास धरना देकर जीटी रोड को जाम किया।

 

इस संबंध में बीजेपी के प्रदेश सचिव सुखपाल सिंह सरां ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन सत्ता पक्ष के दवाब में आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। उन्होंने बताया कि मंगलवार की सुबह करीब चार बजे दो स्कूटी सवार युवाओं ने शहर में बीजेपी प्रत्याशियों के लगे पोस्टरों को फाड़ा और फिर प्रत्याशियों के चेहरे पर कालिख पोत दी। इतन ही नहीं, महना चौक स्थित एक चाय वाले ने जब पोस्टरों को फाड़ने वाले युवाओं को ऐसा करने से रोका तो उन्होंने उसे जान से मारने की धमकी भी दी।

ये भी पढ़ें- फ़िरोज़ाबाद : समाजवादी पार्टी के महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने कह दी ये बड़ी बात….

बठिंडा के वार्ड नंबर 26 से मोहन लाल, 27 से सरीना गोयल, 38 से नीशा शर्मा, 44 से जतिन साहिल के पोस्टरों को कैंची से फाड़ने के बाद प्रत्याशियों के चेहरे पर कालिख पोती गई। उन्होंने बताया कि आरोपी एक सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो चुके हैं। वहीं, बठिंडा के थाना कोतवाली प्रभारी दलजीत सिंह का कहना था कि पुलिस मामले में जांच कर रही है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button