कृषि कानून: फिर किसानों से मिलने सिंघु बॉर्डर पहुंचे दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल, बोले…

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांगों को लेकर कड़ाके की ठंड के बावजूद सड़कों पर डटे किसानों का आंदोलन आज 32वें दिन भी लगातार जारी है।

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांगों को लेकर कड़ाके की ठंड के बावजूद सड़कों पर डटे किसानों (Farmers) का आंदोलन आज 32वें दिन भी लगातार जारी है। इसी बीच सिंधु बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पहुंचे।

किसानों (Farmers) के बीच सिंघु बॉर्डर पर बने गुरु तेग बहादुर मेमोरियल में शहीदी दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले कीर्तन पाठ में सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) हिस्सा लिया।

यह भी पढ़ें : बिहार: CM नीतीश कुमार के करीबी RCP सिंह बने JDU के नए अध्यक्ष, संगठन को मजबूत बनाने में निभाई है अहम भूमिका

सिंघु बॉर्डर पहुंचकर सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि देश का किसान दुखी है, कड़ाके की ठंड में किसान भाई, माताएं, बच्चे 32 दिनों से खुले आसमान के नीचे सोने को मजबूर हैं। 40 से ज्यादा किसानों की शहादत हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि मैं हाथ जोड़कर केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि इनकी मांगें पूरी कर तीनों कानूनों को वापस ले, आखिरी और कितनी शहादत चाहिए…

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र कानूनों के लाभ के बारे में बात नहीं कर रही है, वे सभी कह रहे हैं कि इससे कोई नुकसान नहीं होगा। यह किसानों की जमीन, न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं छीन लेगा, क्या ये लाभ हैं? फिर आप कानून क्यों लाए हैं? फाड़ दो और फेंक दो…

बता दें कि इससे पहले भी केजरीवाल (Arvind Kejriwal) गुरु तेग बहादुर मेमोरियल जा चुके हैं, जहां दिल्ली सरकार ने आंदोलनकारी किसानों (Farmers) के लिए खाने, पानी और टॉयलेट की व्यवस्था की हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button