बड़ी खबर: खत्म हुआ किसान आंदोलन!, टिकरी, सिंघु और गाजीपुर बॉर्डर पर…

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ तीन महीनों से अधिक दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर देशभर के किसानों (Farmers) का आंदोलन जारी है।

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ तीन महीनों से अधिक दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर देशभर के किसानों (Farmers) का आंदोलन जारी है। आंदोलनकारी किसान बॉर्डर सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच पंजाब से राहत की खबर है। अमृतसर में कृषि कानूनों के खिलाफ रेल की पटरियों पर बैठे किसानों ने धरना खत्म कर दिया है और रेल पटरियों को खाली कर दिया है।

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत कई राज्यों में किसान महापंचायत कर किसानों को एकजुट करने की कोशिशों में जुटे हैं, तो वहीं पंजाब में किसानों ने अपना आंदोलन खत्म करने का ऐलान कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, 169 दिनों के बाद किसानों ने धरना प्रदर्शन को खत्म करने का फैसला इसलिए लिया है, क्योंकि ट्रेनों के रद्द होने से किसानों और व्यापारियों को काफी नुकसान हो रहा था, जिसके चलते किसानों ने रेल पटरियों को खाली कर दिया है।

ये भी पढ़ें- UP Panchayat Election 2021: आम आदमी पार्टी ने पंचायत चुनाव को लेकर की बैठक- संजय सिंह ने कार्यकर्ताओं को दिए ये निर्देश…

बता दें कि अमृतसर के जंडियाला गुरु रेलवे स्टेशन से किसानों (Farmers) के आंदोलन को खत्म किए जाने के बाद अब अमृतसर से दिल्ली सीधा यातायात शुरू हो गया है, जिससे यात्रियों और कुलियों को काफी राहत मिली है। किसानों के धरना प्रदर्शन की वजह से रेल विभाग की ओर से कुछ ट्रेने ही चलाई जा रही थीं और वह भी तरन-तारन से होकर अमृतसर पहुंचती थीं। इससे यात्रियों को काफी असुविधा होती थी, लेकिन अब ट्रेनों के आवागमन शुरू होने से यात्रियों ने राहत की सांस ली है।

ये भी पढ़ें- झांसी : किसानों को रिझाने के लिये लगवाए गए ठुमके…

वहीं, इस मामले में डीसी अमृतसर ने बताया कि जंडियाला के रेलवे स्टेशन से कल किसानों के धरना खत्म किए जाने के बाद पैसेंजर ट्रेन उस रास्ते से शुरू हो गई हैं, जो पहले तरन-तारन के रास्ते आती थीं। अमृतसर से दिल्ली के लिए ट्रेनों के सीधे आवागमन की शुरुआत से यात्रियों ने तो राहत महसूस ली ही है। साथ ही स्टेशन पर काम करने वाले यात्रियों का सामान उठाने वाले कुलियों में भी खुशी की लहर है। उनका कहना है कि पिछले 6 महीने से उनका कामकाज नहीं चल रहा था और अब किसानों का धरना खत्म होने से ज्यादा ट्रेन चलेंगी और यात्रियों के आने से उनका कामकाज भी अच्छा होगा।

अमृतसर में किसानों ने रेलवे ट्रैक खाली कर दिया है, लेकिन दिल्ली की सीमाओं पर किसानों (Farmers) का अभी भी जमावड़ा लगा है। टीकरी बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का प्रदर्शन जारी है। सिंघू, टीकरी और गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसान पिछले साल नवंबर के अंत से धरना दे रहे हैं। इनमें अधिकतर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button