Farmer Protest: महाराष्ट्र में होने वाली किसान महापंचायत पर असमंजस, किसान नेता बोले…

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान (Farmer) दिल्ली की सीमाओं पर करीब तीन महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं.इसके साथ ही किसान संगठन अलग-अलग राज्यों में महापंचायते कर रहे हैं

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान (Farmer) दिल्ली की सीमाओं पर करीब तीन महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं.इसके साथ ही किसान संगठन अलग-अलग राज्यों में महापंचायते कर रहे हैं. किसानों की महाराष्ट्र में होने वाली पंचायत पर असमंजस की स्थिति बनी हुई है.

बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यवतमाल में होने वाली किसान (Farmer) महापंचायत को प्रशासन ने अनुमति नहीं दी. हालांकि इसके बाद भी संयुक्त किसान मोर्चा की कोर कमेटी ने बीते शुक्रवार को फिर से महापंचायत की अनुमति के लिए आवेदन किया है.

यवतमाल के जिलाधिकारी ने इस पर निर्णय लेने के लिए पुलिस अधीक्षक को अधिकृत कर दिया है। महापंचायत होगी या नहीं इसको लेकर अभी असमंजस बरकरार है.

ये भी पढ़ें- मुजफ्फरनगर में आज किसान महापंचायत को संबोधित कांग्रेस महासचिव करेंगी प्रियंका गांधी

बता दें कि मुंबई, पुणे सहित विदर्भ के अमरावती, यवतमाल और अकोला में कोरोना के संक्रमण बढ़ने के साथ ही प्रशासन ने यहां कठोर प्रतिबंध लगाये हैं. कोरोना संक्रमण को बढ़ते हुए अकाड़े को देखकर जिलाधिकारी एमडी सिंह ने पहले ही साफ कर दिया था कि किसान महापंचायत की अनुमति नहीं दी जाएगी.

ये भी पढ़ें- आजमगढ़ : बसपा नेता कलामुद्दीन की हुई हत्या के मामले में पुलिस ने किया दो को गिरफ्तार

वहीं संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि हमें दिल्ली के किसान (Farmer) आंदोलन को महाराष्ट्र सरकार का समर्थन है.अब वहां महापंचायत होनी है तो रोकने की कोशिश हो रही है.

ये भी पढ़ें- मोदी सरकार की गलत नीतियां बढ़ा रहीं पेट्रोल-डीजल के दाम: सीएम अशोक गहलोत

आपको बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा के विदर्भ के सxयोजक श्रीकांत तराल ने कहा कि शनिवार को आजाद मैदान में निश्चित समय पर किसान महापंचायत होगी.विदर्भ के एक और किसान (Farmer) नेता ने कहा कि आजाद मैदान में महापंचायत की अनुमति नहीं मिली, तो ऑनलाइन किसान महापंचायत होगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button