चुनावी सरगर्मी के बीच यूपी समेत 5 राज्यों का चुनावी हाल जाने , इस खास खबर में

यूपी समेत देश के पाँच राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। जिसको मद्देनज़र रखते हुए सभी पार्टियां जीत हासिल करने कि कोशिश में लगी हैं ।

यूपी समेत देश के पाँच राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। जिसको मद्देनज़र रखते हुए सभी पार्टियां जीत हासिल करने की कोशिश में लगी हैं । फिर चाहे वो हुकूमत कर रही पार्टी हो या फिर विपक्ष। हुकूमत कर रही पार्टी जहां फिर से जीत कि कोशिश में लगी हुई हैं तो विपक्ष में बैठे दल सत्ता तक पहुंचने की कोशिश में लगे हुए हैं। आईए जानते हैं चुनाव से पहले यह सर्वे क्या कहता है क्या है इन राज्यों का चुनावी हाल।

देश के 5 राज्यों में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं और इन सभी राज्यों में राजनीतिक दल अभी से अपनी-अपनी जीत हासिल करने की कोशिशों में जुट चुके हैं। राजनीतिक गतिविधियां भी तेज हो गई हैं। एबीपी के एक सर्वे के मुताबिक ये अनुमान लगाया जा रहा है की इन 5 राज्यों में कौन सी पार्टी सत्ता बचाने में कामयाब होती दिख रही है और कौन सी नाकाम होती है।

पहले बात करते हैं उतराखंड की :
उतराखंड में अभी सत्ता में बीजेपी सरकार है । अपने साढ़े 4 साल के कार्यकाल में 3 बार मुख्यमंत्री बदलने वाली बीजेपी सरकार क्या इस बार भी सत्ता में अपनी पकड़ कायम रखने में कामयाब होगी या नहीं। इन सवालों के जवाब अनुसार आपको बता दें की सर्वे के मुताबिक राज्य में बीजेपी फिर से सत्ता में वापसी कर सकती है।

सी-वोटर सर्वे में यह बात सामने आई है कि भारतीय जनता पार्टी को राज्य में 42 से 46 सीटें मिल सकती हैं वहीं कांग्रेस को 21 से 25 सीटें मिलने के आसार दिख रहे हैं। हालांकि राज्य में मजबूत दस्तक देने की कोशिश में लगी आम आदमी पार्टी को कोई खास फायदा या जीत हासिल होती नहीं दिख रही है उसे 0 से 4 सीटों पर जीतचुन मिलती दिख रही है और अन्य पार्टियों के खाते में अधिक से अधिक 2 सीटें जा सकती हैं। कुल मिला कर सर्वे के मुताबिक उतराखंड के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को सबसे ज्यादा 45 फीसदी वोट तो कांग्रेस को 34 फीसदी और आम आदमी पार्टी को 15 फीसदी वोट मिलने के आसार हैं।

उत्तरप्रदेश में क्या फिर होगा योगी राज:
उत्तरप्रदेश की बात करें तो देशभर की निगाहें योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाले उत्तर प्रदेश पर लगी हुई है। देखना ये है की क्या उनकी अगुवाई में बीजेपी लगातार एक बार फिर से प्रदेश में सत्ता पर काबिज होती है। हालांकि लखीमपुर खीरी हिंसा और गोरखपुर कांड समेत कई मामलों के बीच इस बार प्रदेश में चुनाव रोमांचक होने के आसार काफी ज्यादा हैं।

सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से सरकार बना सत्ता पर काबिज हो सकती है। दावा किया गया है कि बीजेपी के खाते में 241 से 249 सीटें आ सकती है। वहीं अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के पलड़े में 130 से 138 सीटें जा सकती है और बहुजन समाज पार्टी को 20 से कम सीटें मिलने के आसार हैं। वहीं बात करें काँग्रेस की तो प्रियंका गांधी वाड्रा की अगुवाई में लगातार सक्रिय कांग्रेस को पिछली बार की तरह इस बार भी खास फायदा होता नहीं दिख रहा है। कांग्रेस अंदाजन केवल 3 से 7 सीटों के बीच सिमट सकती है।

पंजाब में क्या बदलेगा सत्ता का हाल:
आपको बता दें की पंजाब का हाल कुछ अलग ही है, 117 विधानसभा सीटों वाले राज्य पंजाब में इस बार किसी भी पार्टी को बहुमत मिलती नहीं दिख रही है। अनुमान है की आम आदमी पार्टी राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है। सर्वे के हिसाब से आम आदमी पार्टी को 49 से 55 सीटें तो फिरहल राज्य में सत्ता पर काबिज कांग्रेस को 39 से 47 सीटें मिलने के आसार हैं तो अकाली दल को 17 से 25 सीटें और बीजेपी को 0 से 1 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। जबकि अन्य के खाते में 0 से 1 सीटें जा सकती हैं।

क्या पंजाब के अगले मुख्यमंत्री के लिए चरणजीत सिंह चन्नी सही पसंद हैं ? इस सवाल पर 60 फीसदी लोगों ने हां में जवाब दिया तो 40 फीसदी लोगों का मानना है कि चन्नी सही पसंद नहीं हैं हालांकि इसका जवाब चुनाव के नतीजे के बाद साफ हो ही जाना है। कुल मिला कर आम आदमी पार्टी को 36 फीसदी वोट तो कांग्रेस को 32 फीसदी वोट मिलने की संभावना जताई जा रही है। देखना ये है की पंजाब राज्य में काँग्रेस पार्टी में चल यही उथल पुथल के बीच क्या होंगे नतीजे।

गोवा और मणिपुर में भी चुनावी सियासत अपने चरम पर है :
बात करें मणिपुर की तो सर्वे के मुताबिक, मणिपुर में बीजेपी को करीब 36 फीसदी वोट मिल सकते हैं, तो कांग्रेस के खाते में 34 फीसदी वोट आ सकते हैं। जबकि एनपीएफ को 9 फीसदी और अन्य के खाते में 21 फीसदी वोट जा सकते हैं। सीटों के लिहाज से अगर देखा जाए तो मणिपुर में बीजेपी को 21-25 सीटें तो कांग्रेस को 18 से 22 सीटें मिलने के आसार दिख रहे हैं। जबकि एनपीएफ को 4 से 8 सीटें मिल सकती है।
वही बात करते है गोवा की तो सर्वे के अनुसार, 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा चुनाव में सत्ता पर हाल में काबिज बीजेपी को 38 फीसदी वोट मिल सकते हैं और सत्ता पर पकड़ बनाए रख सकती है। आम आदमी पार्टी को 23 फीसदी वोट मिल सकते हैं, तो वहीं कांग्रेस के खाते में 18 फीसदी, और अन्य को 21 फीसदी वोट मिलने की संभावना जताई जा रही है। अगर गोवा विधानसभा में सीटों के लिहाज से देखें तो भारतीय जनता पार्टी को 24 से 28 सीटें, कांग्रेस को 1 से 5 सीटें, आम आदमी पार्टी को 3 से 7 सीटें और अन्य के खाते में 4 से 8 सीटें जा सकती है।

इन राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं जिसको मद्देनजर रखते हुए सभी राज्यों में चुनावी सर्गर्मी बनी हुई है, सर्वे से एक अंदाज मिला है जिसके बाद कयासों का दौर जारी है परंतु असलियत में जीत किसके पलड़े में आती है सत्ता पर कौन काबिज होता है ये देखने में अभी अगले साल तक का वक़्त है।

edited by : अदीबा सिद्दिक़ि

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button