कोरोना वैक्सीन लगने के दो माह बाद तक न पिए ये तरल पदार्थ वरना …

रूसी अधिकारियों ने नागरिकों को Sputnik-V वैक्सीन का टीका लगने के 2 माह तक शराब पीने से बचने के बारे में सलाह दी है। और यह भी कहा गया है, कि Sputnik-V कोरोना वैक्सीन को लेने वाले व्यक्ति को कम से कम 42 दिनों के दौरान अतिरिक्त सावधानियों का पालन करना चाहिए।

corona vaccine : रूसी अधिकारियों ने नागरिकों को Sputnik-V वैक्सीन का टीका लगने के 2 माह तक शराब पीने से बचने के बारे में सलाह दी है। और यह भी कहा गया है, कि Sputnik-V कोरोना वैक्सीन को लेने वाले व्यक्ति को कम से कम 42 दिनों के दौरान अतिरिक्त सावधानियों का पालन करना चाहिए। रूस के डिप्टी पीएम गोलिकोवा ने TASS न्यूज एजेंसी को दिए एक साक्षात्कार में कहा भीड़ वालें सभी इलाकों पर नही जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें – Shocking: उम्र 26 साल और पांच दिन में कर डाली दो शादियां, जब हुआ खुलासा तो दुल्हन के पैरों के नीचे से खिसक गयी जमीन

और मुँह पर मास्क को पहनना है, सेनेटाइजर का इस्तेमाल करना है, कॉन्टैक्ट्स कम करना है और शराब या इम्यूनोसप्रेसेन्ट्स ड्रग्स लेने से बचना है। एक अधिकारी ने कहा कि यदि हम लोग अगर ठीक रहना चाहते है, तो हमे यह सारे बचाव करना चाहिए।

Russia पूरी दुनिया में प्रत्येक व्यक्ति शराब का 4th सबसे बड़ा उपभोक्ता है

एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया है, इसलिए शराब का सेवन न करें। “World Health Organization के अनुसार, Russia पूरी दुनिया में प्रत्येक व्यक्ति शराब का 4th सबसे बड़ा उपभोक्ता है। औसतन एक रूसी व्यक्ति वर्ष में 15.1 लीटर शराब की खपत करता है।रूसी स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, देश का अनुमान है कि 100,000 लोग पहले ही टीकाकरण कर चुके हैं। रूस ने पिछले सप्ताहांत में मास्को में अपना टीकाकरण शुरू किया। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि Sputnik-V वैक्सीन 90% से ज्यादा प्रभावी है।

ये भी पढ़ें – इस शहर में खरीद सकते है अपनी पसंद की सुंदर दुल्हन, लगता हैं दुल्हनों का बहुत बड़ा बाजार

न्यूयॉर्क पोस्ट के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कथित तौर पर इसे लेने से इनकार कर दिया। पश्चिमी विशेषज्ञों ने संदेह जताया है कि वैक्सीन तेज गति से विकसित किया गया था, और रूस ने वैक्सीन शॉट के लिए अपने दावों को समर्थन देने के लिए कोई डेटा प्रदान नहीं किया है।

कोरोना के 31,522 नए मामलों के बाद पिछले 24 घंटों में भारत में कुल मामलों की संख्या 97,67,372 हो गई। 412 नई मौतों के बाद, मौतों की कुल संख्या 1,41,772 थी। सक्रिय मामलों की संख्या 3,72,293 है। 37,725 नए डिस्चार्ज के बाद, डिस्चार्ज की कुल संख्या 92,53,306 थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button